कुल उत्पादन में से 15 प्रतिशत चना एवं सरसों खरीदने की घोषणा करें राज्य सरकार – रामपाल जाट
June 16th, 2020 | Post by :- | 41 Views

जयपुर,(सुरेन्द्र कुमार सोनी) । किसान महापंचायत के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामपाल जाट की ओर से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र भेज कर राज्य के कुल उत्पादन में से 15% चना एवं सरसों की खरीद के लिए अनुरोध किया है। पत्र में प्रकट किये तथ्यों के अनुसार कोविड-19 के कारण देश की अर्थव्यवस्था में कृषि क्षेत्र की विकार दर 1.9% रही है जबकि अन्य क्षेत्रों की विकास दर शून्य से नीचे चली गयी। देश की अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए कृषि क्षेत्र को प्राथमिकता दिया जाना अपरिहार्य है। इस दिशा में किसानो को आर्थिक संबल प्रदान करने के लिए केंद्र सरकार कुल उत्पादन में से कम से 50% चना एवं सरसों की खरीद करे। इस संबंध में राज्य सरकार ने प्रधानमंत्री तक को पत्र भेजे है। उनके परिणाम आने तक राज्य सरकार को राजस्थान की जनता की ओर से अधिक प्रयास करने चाहिए। प्रयास पूर्ण होने तक राज्य सरकार कुल उत्पादन में से 15% चना एवम सरसों की खरीद की घोषणा करें। ज्ञात रहे कि उत्पादन का 15% चना एवं सरसों की खरीद का खर्च लगभग 1560 करोड़ एवं 2623 करोड़ रुपये है। चना एवं सरसों के बाजार भावों में बढ़ोतरी की सम्भावना रहती है। यदि वर्तमान के भाव स्थिर रहते है तो दिंनाक 16.06.2020 की स्थिति के अनुसार राज्य को चना एवं सरसों पर लगभग 403 करोड एवं 163 करोड़ रुपये की राशि का अंतर रहेगा। यदि किन्ही कारणों से भारत सरकार द्वारा उसकी भरपाई नहीं की जाती है तो 566 करोड़ रुपये का भार राज्य सरकार को वहन करना पड़ेगा। जिसके लिए किसान कल्याण कोष का उपयोग किया जा सकता है। राष्ट्रीय अध्यक्ष रामपाल जाट ने पत्र में प्रकट किया है कि प्रधानमन्त्री अन्नदाता आय संरक्षण अभियान की योजना में 40% की सीमा तक की खरीद राज्यों को अपने संसाधनों के आधार पर करने का प्रावधान है। इसके अनुसार कुल उत्पादन में 15% की खरीद राज्य द्वारा की जा सकती है। राज्य के इस खर्चे की भरपाई करना केंद्र सरकार के अधीन है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।