बाहर से आने वालो की दें संबंधित व्यक्ति प्रशासन को अविलंभ सूचना, दिल्ली से आने वाले व्यक्तियों को उसी दिन करवाना होगा टैस्ट रहना होगा आईसोलेट, नाकों पर बाहर से आने वाले वाहनों की हो विशेष चैकिंग, सभी की हो थर्मल स्कैनिंग : आईजी विकास अरोड़ा
June 15th, 2020 | Post by :- | 95 Views

कैथल(ब्यूरो चीफ विशाल चौधरी )कोरोना वैश्विक महामारी के चलते जिला के नोडल अधिकारी आईजी विकास अरोड़ा ने अधिकारियों की बैठक लेकर आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिला में अगर किसी के घर दिल्ली या अन्य क्षेत्रों से आता है, तो संबंधित परिवार अविलंभ प्रशासन को सूचित करें और आने वाले व्यक्ति का उसी दिन टैस्ट किया जाएगा। बाहर से आने वाले व्यक्ति को आईसोलेशन रहना होगा। कोई व्यक्ति अगर इस तरह की सूचना छुपाता है, तो उसके खिलाफ आवश्यक कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
आईजी विकास अरोड़ा ने कहा कि जितने भी नाके लगे हैं, उन सभी पर बाहर से आने वाले वाहनों की विशेष चैकिंग की जाए और सभी की थर्मल स्कैनिंग लाजमी है। स्वास्थ्य विभाग भविष्य को मद्देनजर रख कर स्वास्थ्य सेवाओं संबंधित तैयारियां पूरी रखें। माईक्रो प्लानिंग बनाकर वर्तमान में जो स्वास्थ्य सेवाओं से संबंधित जितनी वस्तुएं है, उनकी 5 गुणा कैपेसिटी बढाने की डिमांड दें ताकि उसी के अनुरूप कार्य करते हुए स्वास्थ्य सेवाओं में इजाफा किया जा सके। कोरोना के चलते आम लोगों को और अधिक जागरू क करने की जरूरत है, जो भी व्यक्ति बिना मास्क के सार्वजनिक स्थानों पर मिलता है, तो तुरंत उसका चालान किया जाए। चालान करने वाली टीम सैनेटाईजर व अन्य सावधानियां जरूर बरतें और साथ ही चालान किए गए व्यक्ति को मास्क भी मुहैया करवाए। जिला में जितनी भी ट्रक युनियन है, उनके आवागमन करने वाले ड्राईवरों की निरंतर थर्मल स्क्रीनिंग होती रहे।
उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी पूर्व की भांति पूरी गंभीरता से कोरोना को हराने की लड़ाई को लड़ते रहें। कंटेनमैंट जोन में विशेष निगरानी रखें। वहां रह रहे सभी लोगों का पूरा विवरण प्रतिदिन अपडेट करते रहें। जिला अस्पताल के फ्लू क्लिनिक के साथ-साथ सभी 6 पीएचसी में लगातार कोरोना की सैंपलिंग चलती रहे ताकि अधिक से अधिक लोगों के सैंपल लिए जा सकें। इन दिनों धान लगाने के लिए बाहर से व्यक्ति आ रहे हैं। ग्रामीण स्तर पर बनाई गई पटवारी, ग्राम सचिव की कमेटी संबंधित गांव के किसानों के तालमेल करके सभी की थर्मल स्कै निंग करवाएं। निर्माण कार्यों में लगे सभी मजदूर भी मुंंह पर मास्क, कपड़ा लगाकर कार्य करें।
इस मौके पर उपायुक्त सुजान सिंह ने कोरोना के बचाव के लिए जिला में किए जा रहे कार्यों की विस्तार पूर्वक  जानकारी दी। उन्होंने कहा कि आवगमन बढने के बाद अधिकारियों की और अधिक जिम्मेदारी बढ़ी है। जिला आपदा निगरानी कमेटी निरंतर स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। सभी कंटेनमेंट जोन में नोडल अधिकारियों की नियुक्तियां की गई है। आशा वर्कर द्वारा घर-घर जाकर लोगों का डाटा एकत्रित किया गया है। सभी क्वारंटाईन सैंटरों में साफ-सफाई, खान-पान का विशेष ध्यान रखा जा रहा है। इतना ही नहीं लोगों को रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आयूर्वेदिक दवाईयां भी वितरित की जा रही है। अब तक लगभग 14 हजार 420 आयुर्वेदिक किट दी जा चुकी है। इस अवसर पर एडीसी सतबीर सिंह कुंडु, एसडीएम विवेक चौधरी, शशी वसुंधरा, नगराधीश सुरेश राविश, एमडी शुगर मिल जगदीप सिंह, सिविल सर्जन  डॉ रत्ना भारती, डीडीपीओ जसविंद्र सिंह, ईओ अशोक कुमार, डीआईओ दीपक खुराना, डॉ. ओमप्रकाश, डॉ नीरज मंगला आदि मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।