मुख्यमंत्री केन्द्र सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक वर्ष पूरा होने पर पंचकूला में आयोजित पहली वर्चुयल रैली
June 14th, 2020 | Post by :- | 72 Views

पंचकूला 14 जून (विजय) – हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश की भौगोलिक स्थित उद्योगों के अनुकुल है। इसलिए उद्योगों को बढावा देने के साथ साथ ई-गवर्नेसं क्षेत्र में भी बेहतर फैसलें लिए जाएगें ताकि युवाओं का सही मार्गदर्शन कर उन्हें सफलता की ओर ले जाया जा सके। इसके अलावा केन्द्र सरकार के सहयोग से प्रदेश की जनता को आत्मनिर्भर एवं स्वावलम्बी बनाने के लिए महत्वपूर्ण मूल्यों व निर्णयों पर मिलकर कार्य करेंगें।

मुख्यमंत्री केन्द्र सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक वर्ष पूरा होने पर पंचकूला में आयोजित पहली वर्चुयल रैली को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आगे आने वाला चैलेंजिंग का समय है, यह ध्यान में रखकर अच्छे निर्णय लेते हुए आगे बढेंगे ओर प्रदेश के हर वर्ग कोे समृद्व बनाने का कार्य करेंगें। उन्होंने कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के निर्देशानुसार इस वर्चुयल रैली में पूर्ण रूप से सोशल डिस्टेंसिंग का पूर्ण पालन करते हुए लोगों तक अपनी बात पहुंचाना ही मुख्य लक्ष्य रहा। कोरोना महामारी में जनता को भी सुरक्षित रखना है और उन्हें सरकार की उपलब्धियों से अवगत भी करवाया जा रहा है। इसलिए देशभर में 75 वर्चुयल रैलियंां आयोजित की गई।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने एक साल में महत्वपूर्ण एवं ऐतिहासिक फैसले लेने के लिए साहसिक कदम उठाते हुए वर्षो से लटके हुए अधूरे कार्यो को पूरा किया है। रामजन्म भूमि मंदिर विवाद लम्बे समय तक चला, लेकिन केन्द्र सरकार ने उसे चुटकी मंे निपटा दिया। इसके अलावा संविधान बनने के बाद से नासूर बनी हुई धारा 370 को हटाकर पूरे देश में एक राष्ट्र एक निशान करने का कार्य किया। इसी प्रकार मुस्लिम महिलाओं के लिए तीन तलाक का महत्वपूर्ण मुद्दा निपटाया जिसके कारण महिलाओं को अपमानित होना पड़ता था। इसके अलावा नागरिकता संशोधन विधेयक लाकर अन्य देशों से आने वाले पीड़ितों का मान बढाया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार के इन ऐतिहासिक निर्णयों के कारण प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की विश्व स्तर पर साख बढी है और विश्वव्यापी व्यक्तित्व के रूप मेें उभर कर आये है। उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना का हल भी प्रधानमंत्री ने बड़े ही सरल तरीके से किया है जिसके कारण भारत अन्य देशों के मुकाबले सुरक्षित है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने पहली कान्फ्रेस में ही वैसुदेव कुटुम्ब के आधार पर कार्य किया। इसलिए विश्व के कई देश श्री मोदी का लोहा मानते है। देश में चली गंगा यात्रा से आंतकवादियों के मुहं पर तमाचा लगाया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि चुनौतियों को अवसर के रूप में प्रयोग करना समय की मंाग है। जिस प्रकार देश का परिपेक्ष बदलता रहता है उसी अनुसार कार्य करना चाहिए। उन्होंने कहा कि देश के कृषि, दुकानदार, व्यापारी, उद्योगपति, मजदूर, किसान, शिक्षक, महिला, सैनिक, युवा, खेल आदि हर वर्ग व्यक्तियों के लिए 20 लाख करोड़ रूप्ए का पैकेज दिया है। इस पैकेज से प्रदेश के लोगों को बैंकों के माध्यम से सहायता करके आत्मनिर्भर बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि हर गरीब महिलाओं के खाते में 500 रुपए की राशि, राशन निशुल्क मुहैया करवाया गया। किसान सम्मान निधि के तहत 6 हजार रुपए की राशि, श्रमयोगी मान धन योजना से लाभ, मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना के तहत खरीद, मुआवजा आदि सुनिश्चित किया गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अगली पीढी के लिए पानी बचाने की योजना बनाई है। इसके अलावा केशाऊ बांध, रेणूका डैम पर कार्य किया है। इसके अलावा जल बचाने के लिए छोटे छोटे डैम बनाने का कार्य किया है तथा पानी रिचार्ज हेतू बोरवैल लगवाए गए है। धान की बिजाई कम करने के लिए किसानों केे हितार्थ प्रोत्साहन योजना जैसे निर्णय लेकर लोगों को लाभान्वित करने का कार्य किया है।
वर्चुयल रैली को सम्बोधित करते हुए केन्द्रीय जलशक्ति व सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री रत्न लाल कटारिया ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने दूसरे कार्यकाल के पहले वर्ष में ही विकास हेतू क्रांतिकारी कदम उठाए है, जिनके कारण देश में खुशी की लहर दौड़ चली। लेकिन इसी दौरान कोरोना संक्रमण फैल गया फिर भी सरकार ने एक के बाद एक कई अहम निर्णय लिये जिनका सीधा लाभ जनता को मिला। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने भी अपने दूसरे कार्यकाल में जनहितैषी फैसले लिए है। प्रदेश सरकार की पानी बचाओ योजना की पूरे देश में सराहना हुई है और कई राज्य इसका अनुसरण करने के लिए तत्पर है। उन्होंने कहा कि भाजपा की यह वचुर्यल रैली लोगों के लिए विकास के मामले में मील का पत्थर साबित होगी।
भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला ने कहा कि सरकार ने कोरोना से निपटने के लिए तन, मन, धन से जनता की सेवा करने का कार्य किया है। विशेषकर प्रदेश के किसानों की गेहूं, सरसों, चने की फसलों की खरीद योजना बनाकर सुनिश्चित की। उन्होंने कहा कि किसानों के लिए कृषि को लाभ का सौदा बनाने हेतू कार्य किए जिनमें सरकार ने फसल विविधकरण को अपनाते हुए वैल्यु एडिसन के रूप में कार्य किया है। सरकार ने किसानों का विश्वास जीतने का सराहनीय कार्य किया। इसके साथ ही अर्थव्यवस्था को दुरूस्त करने एवं आत्मनिर्भर बनाने के लिए भी बेहतरीन कार्य किए हैं। इसके लिए सरकार बधाई की पात्र है। उन्होंने वर्चुयल रैली की सफलता के लिए पार्टी की आई टी टीम का भी आभार जताया।

केन्द्रीय कृषि मंत्री नरेन्द्र तोमर ने भी हरियाण जन संवाद एवं वर्चुयल रैली में सरकार के ऐतिहासिक निर्णयों एवं उपलब्धियों के बारे में विस्तार से अवगत करवाते हुए कहा कि सरकार ने देश को स्वच्छता अभियान के तहत हर घर में शौचालय, सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य, सिलेण्डर जैसी सुविधाएं भी गरीब व्यक्तियों तक पहुंचा कर गैर बराबरी को समाप्त करने का कार्य किया है। उन्होंने कहा कि किसानों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए कृषि योजनाओं का विस्तार किया है। अब किसान कहीं भी अपनी फसल को बेच सकते है। इस प्रकार सरकार ने अनेक योजनाओं के माध्यम से भारत को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में पहल की है। सरकार ने इसके लिए उन्होंने कार्यकर्ताओं का सकंल्प करवाया।

राज्यसभा सदस्य एवं प्रदेश प्रभारी डा. अनिल जैन ने रैली को दिल्ली से सम्बोधित किया और सरकार द्वारा किए गए कार्यो का बखान किया। रैली में प्रधानमंत्री के आहवान पर देश को आत्मनिर्भर लक्ष्य की ओर ले जाने का सकंल्प करवाया ताकि सुविचार अनुसार भारत के नागरिक कर्तव्यों का पालन करें ताकि राष्ट्रीय एकता की भावना एवं लोकतंत्र के मूल्यों, समता मूलक मूल्यों आधारित राजनीति व समाज को प्रोत्साहित किया जा सके। इसके अलावा उन्होंने स्थानीय उत्पादों को प्रोत्साहन देने के लिए मिशन के रूप में अपने और लोकल उत्पादों का प्रयेाग करने व स्वच्छता एवं स्वास्थ्य अभियान को आगे बढाते हुए लोगों को जागरूक करने का भी संकल्प करवाया।

पत्रकारों से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्चुयल रैली के माध्यम से अधिक लोगों तक पहंुचा जा सकता है। इसके लिए समय व धन की बचत होती है। इसलिए इस तकनीक को अपनाना चाहिए। रैली के माध्यम से एक लाख लोगों तक जुडने का कार्य किया। इसके अलावा युटयूब, फेसबुक आदि के माध्यम से भी लोगों से जुडे है। उन्होंने कहा कि सामाजिक, धार्मिक एवं अन्य समाजसेवी संगठनों को भी इन परम्पराओं को अपनाना चाहिए। इनके माध्यम से सोशल डिस्टेंस का भी पालन होता है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा घोषित एमएसएमई के 20 लाख करोड़ के पैकेज में 10 प्रतिशत शेयर प्रदेश के लिए जरूर लेगें। एमएसएमई में लगभग 50 हजार युनिटों व परिवारों को भी आर्थिक गतिविधियों का लाभ मिलेगा और राजस्व भी बढेगा।
इस अवसर पर भाजपा के महामंत्री एडवोकेट वेदपाल, प्रदेश शहर मीडिया प्रभारी रणदीप घणघस, रैली संयोजक विशाल सेठ, पंचकूला विधानसभा संयोजक बंतो कटारिया, कालका विधानसभा संयोजक एवं पूर्व विधायक लतिका शर्मा, भाजपा जिला अध्यक्ष दीपक शर्मा, नवीन गर्ग सहित कई पार्टी पदाधिकारी मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।