गलत खबर चलाने में प्रकाशित करने पर अब करना पड़ेगा कानूनी कार्रवाई का सामना
June 14th, 2020 | Post by :- | 92 Views
नूंह मेवात , ( लियाकत अली )  ।  मेवात को बदनाम करने के लिए लगातार झूठी व बेबुनियादी खबरें चलाने वाले मीडिया घरानों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई कराने के लिए पुन्हाना बार के अधिवक्ताओं ने एकजुट होकर रशीद अहमद अधिवक्ता की अध्यक्षता में एक मीटिंग आयोजित की। जिसमें मेवात को बदनाम करने वाले मीडिया कर्मियों पर लीगल कार्रवाई कराने के लिए एक कमेटी बनाई गई , जिसका एडवोकेट रशीद अहमद को चेयरमैन चुना गया। जो मेवात के भाईचारे को बिगाडऩे वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की पहल करेंगे। इसके बाद सभी ने एकजुट होकर मेवात को बदनाम करने वाले लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के लिए पुन्हाना सिटी चौकी में एक शिकायत भी दर्ज कराई।
पत्रकारों से बातचीत करते हुए अधिवक्ताओं ने कहा कि कुछ मीडिया घराने एक सोची समझी साजिस के तहत लगातार मेवात के भाईचारे को खराब करने के लिए झूठी खबरें दिखा रहे हैं , जिनका कोई आधार नहीं है। जबकि मेवात जैसा भाईचारा पूरे देशभर में कहीं पर नहीं है। अधिवक्ताओं ने कहा कि जो लोग मेवात में नफरत के बीज बो रहे हैं , उनके खिलाफ जल्द कानूनी कार्रवाई कराई जाएगी , इसके लिए चाहे उन्हें हाईकोर्ट व सुप्रीम कोर्ट का सहारा क्यों ना लेना पड़े। उन्होंने कहा कि वह मेवात के भाईचारे को खत्म करने को लेकर चलाई जा रही खबरों की जांच कराएंगे, यदि जांच में ये साबित हुआ कि वास्तव में मेवात में हिंदुओं के साथ अत्याचार हुआ है तो ऐसा करने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई कराएंगे और यदि खबरें चलाने वाले अखबार या चैनल इस बात को साबित नहीं कर पाए तो उनके खिलाफ भी कानूनी कार्रवाई कराई जाएगी। अधिवक्ताओं ने कहा कि कुछ लोगों को मेवात का हिंदु- मुस्लिम भाईचारा रास नहीं आता , इसलिए वह मेवात को बदनाम करके आपसी भाईचारे को खत्म करना चाहते हैं। लगातार चल रही झूठी खबरों से जहां आपसी भाईचारे पर खतरा मंडरा रहा है , वहीं मेवातवासियों की धार्मिक भावनांए भी आहृत हो रही हैं। इस मौके पर जावेद अहमद , अखतर हुसैन , हारुन , मुमताज हुसैन , मोहम्मद अशफाक , जहीर खान , सरफराज खान , शाहिद बीसरु , अरशद पापडा सहित काफी अधिवक्ता मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।