धान की सीधी बुआई किसानों के लिए साबित हो रही है वरदान :कृषि अधिकारी ।
June 14th, 2020 | Post by :- | 109 Views
धान की सीधी बुआई हो रही है पानी की बचत के साथ किसानों के लिए हो रही है फायदेमंद साबित :कृषि अधिकारी ।

जंडियाला गुरु कुलजीत सिंह
पूरे विशव में पानी का जमीनी स्तर पर कम होता जा रहा है ।इसलिए पानी  की संभाल जरूरी है। धान की ऐसी फ़सल है जो फ़सल तैयार होने के लिए पानी की बहुत ज्यादा जरूरत पड़ती है ।लेकिन अब इसका समाधान ढूंढ लिया गया है। अब धान की 1509 ,और 121  बासमती की किस्म जहाँ जमीन भारी हो वह  सीधी बुआई के तहत लग सकती है ।इसके ज़रिए हम पानी की बहुत सारी बचत कर सकते हैं ।कृषि अधिकारी प्रितपाल सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि धान की सीधी बुआई सूखे खेत मे की जाती है ।जबकि पहले पानी लगाकर और गहाई कर धान की पनीरी लगाई जाती है। सीधी बुआई में धान को पानी की जरूरत बहुत कम पड़ती है ,फ़सल तैयार होने तक केवल 3 -4बार पानी देना पड़ता है ।जबकि पनीरी लगाने वाले खेतों में फ़सल तैयार करने लिए खेत मे फसल तैयार होने तक पानी खड़ा रहना जरूरी है ।इसके इलावा उन्होंने कहा कि इसका उत्पादन भी पनीरी वाली फ़सक के बराबर होता है। उन्होंने किसानों को सीधी बुआई के तहत ज्यादा स्व ज्यादा फ़सल लगाने की अपील की ।
फोटी कैप्शन :सीधी  बुआई के तहत खेतों में धान की तसवीर ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।