मुंह पर मास्क नहीं लगाने वालों को कोरोना टैस्ट करवाने के साथ देने होंगे 3950 रुपए
June 13th, 2020 | Post by :- | 232 Views

भिवानी, 13 जून संवाद सहयोगी ममता गौड़। मुंह पर मास्क न लगाने वाले इस मुगालते में बिल्कुल न रहें कि आप बिना मास्क के घर से बाहर निकले तो आपको कोई पूछने वाला नहीं होगा। ऐसा करने वाले जरा सावधान हो जाएं। यदि आप बिना मास्क के घर से बाहर कहीं गए तो स्वास्थ विभाग की टीम सबसे पहले आपका कोरोना टैस्ट करेगी। इतना ही नहीं आपसे कोरोना टैस्ट करने के 3950 रुपए वसूल किए जाएंगे। इस पर भी आपको 500 रुपए जुर्माने के रूप में देने होंगे। स्वास्थ्य विभाग जल्द ही इस योजना को अमलीजामा पहनाएगा। इसके लिए हरियाणा स्कूल एजूकेशन के अतिरिक्त मुख्य सचिव महावीर सिंह ने शनिवार को लघु सचिवालय स्थित डीआरडीए सभागार में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश जारी कर दिए हैं।
अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री सिंह शनिवार को डीआरडीए सभागार में जिलाधिकारियों के साथ कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण को लेकर किए जा रहे प्रयासों की समीक्षा कर रहे थे। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि मोबाईल हेल्थ टीमों को और अधिक गति प्रदान की जाए। भीड़भाड़ वाले स्थानों पर विशेष ध्यान दिया जाए। उन्होंने कहा कि मोबाईल टीमें निरंतर शहर में घूमती रहें और लोगों के अधिक से अधिक टैस्ट किए जाएं। सब्जी मंडी आदि में थर्मर्ल स्केनिंग की जाएगी। उन्होंने निर्देश दिए कि लोगों को मास्क पहनने की प्रति जागरूक किया जाए ताकि वे घर से बाहर निकलने के दौरान मास्क का प्रयोग करें। उन्होंने निर्देश दिए कि मास्क नहीं लगाने वालों का कोरोना टैस्ट किया जाए और उसके बदले फीस रूप में 3950 रुपए वसूल किए जाएं। इतना ही नहीं उन पर 500 रुपए जुर्माना भी लगाया जाए।

उन्होंने कहा कि जिले से दिल्ली व गुरूग्राम में नौकरी करने वाले ऐसे लोगों की पहचान की जाए जो प्रतिदिन आते-जाते हैं और उनका नियमित रूप से हेल्थ चैकअप करवाया जाए। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण की बढ़ती संख्या को रोकने के लिए ऐसे लोगों की ट्रेवल हिस्ट्री जानना जरूरी है। अतिरिक्त मुख्य सचिव ने कहा कि औद्योगिक इकाईयों में मजदूरों की थर्मल स्केनिंग नियमित रूप से की जाए। यदि कोई संदिग्ध व्यक्ति मिलता है तो उसे तुरंत प्रभाव से आईसोलेट किया जाए।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।