कोरोना से बचाव के लिए सुरक्षित रहना जरूरी :  जिला उपायुक्त
June 12th, 2020 | Post by :- | 42 Views

डीसी नरेश नरवाल ने लोगों को सजग रहने के लिए किया प्रेरित,

मास्क अवश्य पहनन, हैंड सेनेटाइजर का उपयोग करें|

पलवल हसनपुर (मुकेश वशिष्ट) 12 जून :- कोरोना वैश्विक महामारी के दौरान रोजाना एक शहर से दूसरे शहर नौकरी या व्यापार के लिए आने जाने वाले लोगों के लिए कोविड-19 के संक्रमण से सुरक्षित रहने के लिए एडवाइजरी जारी की है। डीसी नरेश नरवाल ने स्वास्थ्य सुरक्षा के दृष्टिगत लोगों को जागरूक रहने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि आपदा की स्थिति में सभी को जागरूक होकर कोरोना से बचना है।

डीसी नरेश नरवाल ने कहा कि निर्धारित नियमों का पूर्णतया पालन करें और फेस मास्क पहनें और उन्हें समय-समय पर हाथ धोते हुए सुरक्षित रहें अथवा हैंड सैनिटाइजर का उपयोग करें। उन्होंने कहा कि एक-दूसरे से कम से कम एक मीटर की व्यक्तिगत दूरी बनाए रखें और कार्यालय या खरीददारी आदि से घर लौटने पर स्नान करें। बाहर जाने के लिए एक जैकेट या एक स्वेट-शर्ट रखें, जिसे आप कार्यालय या घर पहुंचने के बाद हटा सकें। नियमित रूप से हाथ धोएं, भीड़ में जाने से बचें और एक मीटर की अनिवार्य शारीरिक दूरी का पालन करें।

डीसी ने कहा कि साबुन या 60 प्रतिशत अल्कोहल युक्त सैनिटाइजर के साथ 20 सेकंड तक हाथ धोने से व्यक्तिगत स्वच्छता बनाए रखें। हाथ मिलाने व समूह लंच आदि से बचें। ऑनलाइन बैठकों को प्रोत्साहित करें। अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने के लिए पौष्टिक आहार लें। नियमित रूप से पानी या अन्य तरल पदार्थ पीते रहें। बाहर से आते ही अपने कपड़ों को त्याग दें और अपने हाथों और पैरों को अच्छी तरह से धोएं। शराब और शर्करा युक्त पेय पदार्थो का सेवन न करें। यदि आपको खांसी, बुखार या सांस लेने में कठिनाई होती है तो अपनी स्वास्थ्य जांच के लिए बीमार होने पर घर में ही रहे।

डीसी नरेश नरवाल ने लोगों से आह्वान किया है कि सभी अपने मोबाइल उपकरणों में आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करें तथा मार्ग पर हमारी सुरक्षा के लिए तैनात पुलिस कर्मियों के निर्देशों का पालन करें। निर्धारित स्थान पर ही वाहन को खड़ा करें किसी अन्य स्थान पर या बाजार में न रोकें। जहां तक संभव हो भीड़ भरे परिवहन साधनों का उपयोग न करें। कैब-एग्रिगेशन का उपयोग सीमित हो सकता है जब तक कि पूरी तरह से अपरिहार्य न हो। सबसे महत्वपूर्ण बात चेहरे पर कहीं भी हाथ न लगाएं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।