बेढा और गढी पटटी को सीवरेज से जोडा जाएगा, नौ करोड की राशी मंजूर: नायर
June 12th, 2020 | Post by :- | 905 Views
होडल,  (मधुसूदन भारद्वाज): शहर में पिछले काफी समय से जाम पडी सीवरेज व्यवस्था के मामले को लेकर जन स्वास्थ विभाग के चीफ इंजीनियर देवेंद्र दहिया ने शहर का निरीक्षण किया। इस अवसर पर उनके साथ स्थानीय विधायक जगदीश नायर,एसई जनकराज,एक्सईएन रमेशचंद गौड,एसडीओ राजबीर ङ्क्षसह सहित अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे। विधायक नायर ने चीफ इंजीनियर देवेंद्र दहिया को राष्ट्रीय राजमार्ग गोडोता चौक के निकट वर्षों से भरे गंदे पानी का निरीक्षण कराया तथा विभाग द्वारा करोडों रुपए की लागत से तैयार होने वाले डे्रन के अधूरे पडे निर्माण का भी निरीक्षण कराया। उझीना डे्रेन से बाबरी मोड तक ड्रेन का निर्माण कार्य होना था,लेकिन बजट समाप्त होने के कारण निर्माण कार्य लटक गया। इसके अलावा नायर ने विभागीय अधिकारियों को शहर में जगह जगह जाम पडी सीवरेज व्यवस्था और लीकेज पेयजल लाईनों के मामले से भी अवगत कराया। जिस पर चीफ इंजीनियर देवेंद्र दहिया ने बताया कि वह अगले सप्ताह मुख्यमंत्री मनोहरलाल खटटर के साथ होने वाली मीटिंग में इस मामले को रखेंगे। विभागीय अधिकारी ने आश्वासन दिया है कि बाबरी मोड से रेलवे चौक तक गंदे पानी की निकासी के लिए बनाई जाने वाली डे्रन का निर्माण कार्य भी शीघ्र शुरु करा दिया जाएगा। जिसके बाद राष्ट्रीय राजमार्ग सर्विस रोड पर भरने वाले गंदे पानी की समस्या का समाधान होगा। नायर ने बताया कि शहर के बाईसी मोहल्ले सहित पांच किलोमीटर के दायरे में क्षतिग्रस्त व लीकेज पेयजल पाईप लाईनों को विभाग द्वारा शीघ्र बदला जाएगा। गोडोता रोड के निकट राजमार्ग पर पिछले कई महीनों से सीवरेज का गंदा पानी भरा रहता है, जिसके कारण लोगों को परेशानियों का सामना करना पडता है।
बेढा और गढी पटटी को भी सीवरेज से जोडा जाएगा, नौ करोड की राशी मंजूर
अब गढी व बेढा पटटी को भी सीवरेज व्यवस्था से जोडा जाएगा। जिसके लिए सरकार द्वारा नौ करोड रुपए की राशी मंजूर की गई है। नायर ने बताया कि बेढा और गढी पटटी में सीवरेज के साथ साथ शुद्ध पेयजल व्यवस्था के लिए टयूबैल लगाए जाएंगे, जिसके माध्यम से लोगों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि बेढा और गढी पटटी में सीवरेज लाईन डालने का कार्य जल्द ही शुरु होगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।