गंदे पानी की निकासी के लिए खोदा जा रहा नाला लोगों के लिए बना बड़ी मुसीबत|
June 11th, 2020 | Post by :- | 116 Views

पलवल हसनपुर (मुकेश वशिष्ट) 11 जून :- होडल शहर में से गंदे पानी की निकासी के लिए नेशनल हाइवे गौडोता चौक से उझीना ड्रैन तक बनाया जा रहा नाला लोगों के लिए मुसीबत का कारण बनने लगा है। नाले का कार्य कछुआ गति से चलने के कारण लोगों को काफी दिक्कतों को सामना करना पड रहा है। इसके अलावा लोग ठेकेदार पर नाले में घटिया सामग्री लगाने के अलावा नगर परिषद के अधिकारियों से सांठगांठ के भी आरोप लगा रहे हैं। लोगों द्वारा बार-बार नगर परिषद के अधिकारियों से शिकायत करने के बावजूद भी अधिकारियों के कानों पर जूं तक नहीं रैंग रही है। नगर परिषद की इस ओर अनदेखी के चलते लोगों में उनके प्रति रोष व्याप्त है।

शहर में से गंदे पानी की निकासी के लिए नगर परिषद की ओर से नेशनल हाइवे गौडोता चौक से उझीना ड्रैन तक एक नाला खोदा जा रहा है जो कि इन दिनों हाइवे स्थित कालोनियों व वहां से निकलने वाले लोगों के लिए मुसीबत का कारण बनने लगा है। कालोनी के लोग यहां ठेकेदार पर घटिया सामग्री का इस्तेमाल करने व कार्य में लापरवाही बरतने का आरोप लगा रहे हैं। श्याम कालोनी निवासी जगमोहन, राकेश, सतीस कुमार, अग्रवाल कालोनी निवासी ओमप्रकाश, बलदेव के अलावा अन्य कालोनी के लोगों का कहना है कि इस नाले पर कार्य करने वाला ठेकेदार अपनी मनमर्जी कार्य कर रहा है।

ठेकेदार पीछे से खुदाई होकर आ रहे गड्ढों को अच्छे तरीके से नहीं भरता और आगे और गड्ढा खोद देता है। उन्होंने कहा कि ठेकेदार की लापरवाही के चलते आए दिन दोपहिया वाहन चालक व पैदल निकलने वाले राहगिर उन गडढों में गिरकर घायल हो रहे हैं। इसके अलावा ठेकेदार ने पीछे से आ रहे गड्ढों में घटिया सामग्री का इस्तेमाल किया है। उन्होंने कहा कि वह इस मामले की शिकायत विभाग के आला अधिकारियों से कर उसकी जांच कराएंगे। इसके अलावा शहर के लोगों का कहना है कि नगर परिषद् अधिकारियों से सांठगांठ होने के चलते इस ठेकेदार की मनमर्जी व लापरवाही की ओर कोई ध्यान देने को तैयार नहीं है।

क्या कहती हैं चेयरपर्सन:- चेयरपर्सन आशारानी तायल का कहना है कि उन्होंने ठेकेदार को जल्दी कार्य समाप्त करने के आदेश दिए हैं। उन्होंने कहा कि ठेकेदार कार्य में अगर कोई लापरवाही बरत रहा है तो उसकी जांच कराकर उसके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।