जनता को अपने आप लॉक डाउन जैसे स्तिथि अपनानी होगी।
June 11th, 2020 | Post by :- | 47 Views

अम्बाला:(अशोक शर्मा)
लॉक डाऊन फर्स्ट और दूसरे के दौरान देशवासी बहुत सतर्कता से इस का पालन कर रहे थे। लेकिन अब अनलॉक होने से लोग धड़ल्ले से मार्केट, ऑफिस और घूमने का दौर शुरू कर चुके हैं। आज पहले से अधिक प्रतिदिन मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। सरकारी हस्पतालों में इतनी व्यवस्था नहीं हो सकती जिस हिसाब से मरीज बढ़ते है। ओर प्राइवेट हस्पताल जनता की जेब से कितना पैसा निकाल लेंगे यह लोगों को अनुमान भी नहीं है। क्योकि की ऐसे हाई टेक अस्पतालों पर किसी प्रकार का अंकुश नहीं है। यदि सरकार इनको इलाज सस्ता करने के लिये बादित भी करे तो भी ये अस्पताल पर्दे के सामने असलियत आने नही देते। इस लिए कॅरोना से बचने के लिये आज भी आपसी दूरी और घरों में सुरक्षित रहना अधिक उचित है। भारत के बड़े शहर मुम्बई, अहमदाबाद, और दिल्ली में मरीजों की भयावह संख्या को देख कर समझना होगा कि जब तक कॅरोना की वैक्सीन नहीं उपलब्ध होती तब तक जनता को अपने आप लॉक डाउन जैसे स्तिथि अपनानी होगी, अपने आप को 30-35 दिन घरों में कोरनटाइन रखना होगा,बेशक सरकारी अनलॉक एक या दो भी लागू करदे।
लोग जागरूक है भी और कुछ आज भी सरकारी नियमों की अनदेखी कर रहे है। अम्बाला रिपोर्टर ने आज एक साधारण सब्जी बेचने वाले को भी अपनी रेहड़ी पर सैनिटाइजर के साथ देखा तो जागरूकता की मिसाल लगी। रेहड़ी वाले राम सेवक ने बताया कि जनाब में तो अपने लिए कम अपने परिवार को पालने के लिए अधिक सुरक्षित रहना चाहता हूं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।