भाजपा के अब 34 नहीं 35 होंगे मंडल, सूद ने ई डब्लू एस मलोया को दिया मंडल 7ऐ का नाम,
June 10th, 2020 | Post by :- | 176 Views

मनोज शर्मा/ चंडीगढ़ 10 जून, 2020 – भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अरुण सूद ने संगठन का विस्तार करते हुए पार्टी के 6 मंडलों के मंडल अध्यक्षों की नियुक्ति की \ इन नियुक्तियों के साथ साथ पार्टी ने ई डब्लू एस कॉलोनी मलोया को एक नए मंडल 7ऐ को बनाये जाने की भी घोषणा की  \  अब पार्टी के 34 के बजाये 35 मंडलों की सरंचना हो गयी है \ इसी के साथ प्रदेश अध्यक्ष अरुण सूद ने आज 35 में से बचे शेष 6 मंडलों के अध्यक्षों की नियुक्ति भी की \ जिला नंबर 2 के वार्ड नंबर 6 डडूमाजरा से राकेश अग्रवाल, मंडल नंबर 7ऐ ई डब्लू एस मलोया कॉलोनी से दीनानाथ चौहान, जिला नंबर 3 के मंडल नंबर 12 कजहेडी, सेक्टर 43,61 और 52 से ललित चौहान, मंडल 21 सेक्टर 32 और 46 से दीपक शर्मा, मंडल नंबर 22 सेक्टर 31,47 और 48 से  अवि भसीन, जिला नंबर 5 के वार्ड नंबर 29 गाँव दड़वा से गोपाल बेंजवाल को नियुक्त किया।

इस अवसर पर पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष आशा जसवाल, प्रदेश महामंत्री चंद्रशेखर और रामबीर भट्टी, सचिव अमित राणा और तेजिंदर सरों, कार्यालय सचिव गजेंद्र शर्मा, सेह सचिव देवी सिंह और दीपक मल्होत्रा, जिला अध्यक्ष रविंद्र पठानिया, राजिंदर शर्मा और नरेश पांचाल, महिला मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष सुनीता धवन, पार्षद शक्ति प्रकाश देवशाली और भरत कुमार, प्रवक्ता धीरेन्द्र तायल आदि भी उपस्थित थे |

उपरोक्त सभी नवनियुक्त मंडल अध्यक्षों की नियुक्ति पर पार्टी के प्रदेश महासचिव चंद्रशेखर ने बताया कि राकेश अग्रवाल इस से पूर्व युवा मोर्चा के जिला महामंत्री पद की जिम्मेदारी निभा चुके हैं \ दीनानाथ चौहान भी गत कई वर्षों से युवा मोर्चा, मंडल स्तर आदि तक, ललित चौहान इस से पहले भी मंडल अध्यक्ष रहे हैं और दीपक शर्मा टेनामेन्ट प्रकोष्ठ का प्रदेश संयोजक, अवि भसीन इस से पूर्व इंडस्ट्री प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक और गोपाल बेंजवाल गाँव के पूर्व पञ्च, मीडिया विभाग में जिला नंबर 4 के संयोजक, रह चुके हैं \

प्रदेश अध्यक्ष अरुण सूद  ने नवनियुक्त सभी मंडल अध्यक्षों को शुभकामनाएं प्रदान की और कहा कि इनकी नियुक्ति से पार्टी और अधिक सुदृढ़ होगी

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।