बिजली की स्टे की चपेट में आने से रियाली निबासी बशीर की भैंस की हुई मौत, वीते वर्ष भी 21 वर्षीय युबक की भी इसी जगह करंट की चपेट में आने से हो चुकी है मौत
June 10th, 2020 | Post by :- | 133 Views

गगन ललगोत्रा (व्यूरो कांगड़ा)

 

जिला कांगड़ा के थानां इंदौरा ओर फतेहपुर के अधीन पड़ते मंड क्षेत्र में गाँवो में बिजली से हादसे होना एक आम बात हो गई है। जिसका मुख्य कारण है के बिधुत बिभाग ने इस क्षेत्र में किसानों को थोक में सिंचाई हेतु मोटरों के कुनेक्शन दीये है और यह शिलशिला अभी भी जारी है परंतु यह कुनेकसन किसी भी माप दंड के आधार नही देते है यहाँ तक की जो पोल लगाए जाते है उनकी आपसी दूरी भी बिभाग के मापदंडों से कही अधिक होती है आपसी दूरी भी बिभाग के मापदंडों के हिसाब से बहुत ही अधिक होती है। यहाँ तक की कई जगह लकड़ी के डंडो के पोल लगाकर ही कुनेकसन दे दिए है और पुरे क्षेत्र में बिजली की तारे मात्र जमीन से 6 से 7 फुट देखना एक आम बात हो गई है और थोड़ी सी हबा चलने टूट कर ओर झूलकर आज तक कई पशुयों ओर व्यक्तियों की जान को काल का ग्रास बना चुकी है। बिभाग को सव पता होने पर भी बिभाग ने आज तक तारो की दशा को नही सुधारा है। मण्ड रे से लेकर रियाली , मंड पराल, मंड मियानी तक बिजली की तारो की यही स्थिति है । ऐसे ही इन तारो की चपेट में आने से पिछले वर्ष रियाली गाँव के बसीर पुत्र काशिम का 21 बर्षीय पुत्र अनबर भी काल का ग्रास बन गया था ओर बिधुत बिभाग ने उन तारो को ठीक करना अपनी जीमेबारी नही समझा था की आज सुबह फिर बसीर निबासी रियाली की एक भैंस बिजली के पोल के साथ लगी स्टे में करंट आने से उसकी चपेट में आकर मर गई है। भैंस की की कीमत लगभग 50 हजार से ऊपर थी। बिधुत बिभाग की इस लाप्रबाही की सूचना मिलते ही स्थानीय ग्रामीण ओर पंचायत प्रतिनिधी ओर सेबा सोसाईटी जट्ट बेली के प्रधान गुरमुख सिंह मौके पर पहुँचे ।

स्थानीय लोगो ने बताया के मौके पर बिधुत बिभाग के कर्मचारी भी पहुँचे ओर अपनी गलती पर पर्दा डालते नजर आए और पीड़ित को ही उल्टी खरी खोटी सुनाकर चलते बने  । घटना स्थल पर हाई बोल्टेज की तार मात्रा 4 फुट की दूरी हाइट पर है ।और बिभाग ने स्टे में लगने बाला एग नामक पुर्जा ही नही डाला है । स्थानीय लोगो ने पुलिस प्रशाशन से  अपील की है के बिधुत बिभाग रे पर मामला दर्ज करके सख्त कार्यवाही अमल में लाई जाए।  ग्रामीणों ओर सेबा सोसाइटी ने भी बिधुत बिभाग को चेताते हुए कहा के क्षैत्र की सभी बिजली की लाइनो की मुरामत करें। और पीड़ित को भैंस का मुआबजा दिया जाए यदि समय रहते बिभाग मुआबजा नही देता है तो बिभाग के खिलाफ धरना प्रदर्शन करने से भी जनता पीछे नही हटेगी

इस संबंध में जब एस डी ओ बिधुत उपमंडल रे विवेक से बात की गई तो उन्होंने कहा के मैने अपने कर्मचारी मोके पर भेजे थे ओर यह भैंस बिजली के करंट से नही मरी है हमारी स्टे में बिल्कुल भी करंट नही था भैंस के मरने का कोई और कारण हो सकता है

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।