जेजेपी जल्द करेगी संगठन में बदलाव और विस्तार, मेहनती कार्यकर्ताओं को मिलेंगी नई जिम्मेदारी – निशान सिंह
June 8th, 2020 | Post by :- | 160 Views

अपनी पार्टी को 1 विधायक और 2 प्रतिशत वोटों पर समेटने वाले नेता ना करें जेजेपी की चिंता – डॉ केसी बांगड़

चंडीगढ, ( महिन्द्र पाल सिंहमार )    ।       जननायक जनता पार्टी अपने संगठन को और मजबूत करने के लिए जल्द संगठन में कुुछ बदलावों के साथ विस्तार करने जा रही है। जेजेपी अपने संगठन का राष्ट्रीय स्तर से लेकर हलका स्तर तक बदलाव व विस्तार करते हुए नए मजबूत साथियों को नियुक्त करेगी तो वहीं मेहनती नेताओं को नई जिम्मेदारियां सौंपेगी। यह बात आज चंडीगढ़ स्थित जननायक जनता पार्टी के प्रदेश कार्यालय में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष सरदार निशान सिंह व पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव डॉ. केसी बांगड़ ने कही। इस अवसर पर पार्टी प्रदेश कार्यालय सचिव रणधीर सिंह भी मौजूद रहे।

पार्टी प्रदेशाध्यक्ष ने बताया कि पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने जननायक जनता पार्टी के संगठन को मजबूत करने के लिए बदलाव तथा विस्तार करने का फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि पार्टी ने गठन के पहले साल में ही लगातार चुनाव होने के चलते जल्दी-जल्दी में संगठन को खड़ा किया था लेकिन अब संगठन में दूरदर्शिता के साथ बदलाव करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि अब संगठन में मजबूत साथियों तथा पुराने मेहनती नेताओं को नई जिम्मेदारियां सौंपी जाएगी ताकि एक नई ऊर्जा के साथ संगठन आगे बढ़े। उन्होंने कहा कि पार्टी के वरिष्ठ नेता जल्द विचार-विमर्श करके संगठन विस्तार तथा बदलाव की घोषणा करेंगे।

निशान सिंह ने बीजेपी-जेजेपी गंठबधन सरकार को प्रदेश हित में बताते हुए कहा कि राज्य सरकार निरंतर जनता के हित में फैसले ले रही है। उन्होंने कहा कि सरकार ने किसानों के हित में कोरोना महामारी के बावजूद बेहतर तरीके से फसल खरीदने का काम किया है। उन्होंने कहा कि सरकार ने किसानों को जहां कोरोना संक्रमण से बचाव किया तो वहीं फसल खरीद के साथ उसका भुगतान करने का काम किया। उन्होंने कहा कि अब तक सरकार ने फसल खरीद का करीब 95 प्रतिशत भुगतान कर दिया है और जल्द बचे पांच प्रतिशत की अदायगी कर दी जाएगी।
पार्टी प्रदेशाध्यक्ष ने गंठबधन सरकार का धन्यवाद करते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ने गिरते भू जलस्तर को गंभीरता से लेते हुए “मेरा पानी-मेरी विरासत” योजना की शुरूआत की ताकि गिरते भू जलस्तर में सुधार किया जा सके। उन्होंने कहा कि सरकार ने किसानों से अपील करते हुए धान की खेती की जगह वैकल्पिक खेती करने का अनुरोध किया है और वैकल्पिक खेती करने वाले किसानों को सात हजार रूपये प्रोत्साहन राशि देने का सराहनीय कदम उठाया है। उन्होंने कहा कि निरंतर गिरता भू जलस्तर हमारी विरासत के लिए चिंताजनक है।

प्रेस वार्ता के दौरान पार्टी प्रदेशाध्यक्ष सरदार निशान सिंह व पार्टी के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव डॉ. केसी बांगड़ ने इनेलो नेता अभय चौटाला द्वारा जेजेपी संरक्षक डॉ. अजय सिंह चौटाला पर की गई अशोभनीय टिप्पणी की कड़ी निंदा की है। उन्होंने कहा कि जगजाहिर है कि इनेलो आज जिस नेता नरेश शर्मा की अपनी पार्टी में ज्वाइन करवा रही है वो पहले इन्हें ही न सिर्फ पानी पी पीकर कोसते थे बल्कि इनेलो के वरिष्ठ नेताओं पर अभद्र टिप्पणियां करते थे।

निशान सिंह ने कहा कि अभय चौटाला हमारी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं पर बोलने से पहले अपनी गिरेबान में झांकने का काम करें। उन्होंने कहा कि जिस इनेलो के पास कभी 20 विधायक होते थे वो आज मात्र एक विधायक तक सिमट कर रह गई है जबकि जननायक चौधरी देवीलाल जी की विचारधारा पर चलने वाली पार्टी जनता के आशीर्वाद से 10 विधायकों के साथ आज सता में भागीदार है। उन्होंने कहा कि अभय चौटाला को बोलने से पहले इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि वे 2 प्रतिशत वोटों वाली पार्टी के एकमात्र विधायक हैं और वे टिप्पणी 16 प्रतिशत वोटों वाली जेजेपी के बारे में कर रहे हैं।

पार्टी के प्रधान महासचिव डॉ केसी बांगड़ ने भी कहा कि नरेश शर्मा और अभय चौटाला विधानसभा में मर्यादा को लांघते हुए एक-दूसरे को गालियां तक देने का काम करने थे और आज वो ही एक साथ खड़े है। उन्होंने याद दिलाया कि कुछ साल पहले तक नरेश शर्मा पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के इशारे पर पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला के बारे में अभय चौटाला की मौजूदगी में विधानसभा के भीतर और मीडिया में बेहद अशोभनीय टिप्पणी करते थे। बांगड़ ने कहा कि लगता है पूर्व नेता प्रतिपक्ष अभय सिंह चौटाला वे बातें भूल गए हैं। उन्होंने कहा कि अभय चौटाला को आज अपने परिवार के बारे में अशोभनीय बातें नहीं करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि अभय सिंह को जेजेपी की नहीं अपनी पार्टी की चिंता करनी चाहिए।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।