गृह रक्षी विभाग में दीमक की तरह फैला हुआ है भ्रष्टाचार
June 8th, 2020 | Post by :- | 167 Views

नूंह मेवात , ( लियाकत अली )  ।  गृह रक्षी विभाग नूह में भ्रष्टाचार दीमक की तरह फैला हुआ है । इस विभाग में नियमों को ताक पर रख न केवल ड्यूटी लगाई जाती है , बल्कि नई नियुक्तियां तक कर दी जाती हैं ।होमगार्ड के जवान आला अधिकारियों के खिलाफ रिश्वतखोरी की शिकायत सबूतों के साथ जिला प्रशासन के आला अधिकारियों से लेकर गृह रक्षी विभाग के आला अधिकारियों से करते रहे हैं , लेकिन प्रदेश के सबसे कड़क व ईमानदार मंत्रियों में शुमार अनिल विज के अधीन आने वाले इस विभाग में गड़बड़झाला रुकने का नाम नहीं ले रहा है । किसको कब नौकरी से हटाना है और किसको नई नियुक्ति देनी है इन सब में नियमों को ठेंगा दिखाया जा रहा है । वैसे तो इस विभाग में जिला कमांडेंट या सेंटर कमांडर   बदलते रहे हो , लेकिन रिश्वतखोरी का चलन कभी-कभार ही बदला है । इन दिनों जिला कमांडेंट नरेश कुमार पर नियुक्ति करने , ड्यूटी पर चढ़ाने सहित कई मामलों में रिश्वत लेने , अपशब्द कहने , कर्मचारियों के खिलाफ लोगों को उकसा कर शिकायत कराने जैसे कई गंभीर आरोप लग रहे हैं । इससे पहले भी नरेश कुमार कई साल पहले जब नूह जिले में सेंटर कमांडर के पद पर तैनात थे । उस समय भी इनका नाम रिश्वतखोरी में खूब उछला था ।

सूत्र बताते हैं कि इसी माह अंत में जिला कमांडेंट नरेश कुमार सेवानिवृत्त होने जा रहे हैं , लेकिन उससे ठीक पहले जिला कमांडेंट मोटी कमाई करने की फिराक में है । हाल ही में एक कर्मचारी को बिना नोटिस नौकरी से बाहर का रास्ता दिखाया तो होमगार्ड के जवान ने भी जिला कमांडेंट के खिलाफ डीसी – एसपी से लेकर होमगार्ड विभाग के डीजीपी , गृह मंत्री अनिल विज सहित तमाम बड़े अधिकारियों को नरेश कुमार के खिलाफ शिकायत देकर कार्रवाई करने की मांग की है । ध्यान रहे कि नरेश कुमार के खिलाफ पहले भी विभाग ने गड़बड़ झाले की जांच करवाई थी और उस समय जो जांच अधिकारी थे । उन्होंने नरेश कुमार के कार्यकाल में बड़ा गड़बड़झाला उजागर करते हुए आला अधिकारियों को नरेश कुमार के खिलाफ कार्रवाई करने की सिफारिश की थी , लेकिन विभाग के लिए नरेश कुमार किसी दुधारू गाय से कम नहीं है । यही वजह है कि कार्रवाई तो दूर की बात बल्कि नरेश कुमार को ऐसा इनाम मिला कि उनको एक जिले के बजाय कई के जिलों का कार्यभार गृह रक्षी विभाग हरियाणा ने सौंप दिया । कुल मिलाकर एक के बाद एक बड़े गड़बड़झाले करते जा रहे हैं । इस बात के ऑडियो से वीडियो तक के सबूत अधिकारियों को दिए जा रहे हैं , लेकिन नरेश कुमार के खिलाफ कार्रवाई करने की किसी भी अधिकारी में शायद हिम्मत नहीं है । अब सवाल लाख टके का यह है कि नरेश कुमार के पास ऐसी कौन सी ताकत है , जिसकी वजह से वह बार – बार एक के बाद एक बड़ी लापरवाही व गड़बड़झाले करता जा रहा है , लेकिन उस पर कार्रवाई होने के बजाय उसके मामलों को ठंडे बस्ते में डाल दिया जाता है । इसी माह के अंत में अब यह जिला कमांडेंट सेवानिवृत्त होने जा रहा है ।विभाग ने अगर होमगार्ड के जवानों की शिकायत पर गंभीरता दिखाते हुए गहनता से जांच की तो इस अधिकारी के बहुत से काले कारनामे सेवानिवृत्त होने से पहले ही जमाने के सामने आ सकते हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।