अपाहिज सर्टिफिकेट रिन्यू कराने के लिए 4किलोमीटर की दूरी बाजुओं औऱ घुटनों कर बल पर तय करता है दूरी ।
June 8th, 2020 | Post by :- | 113 Views
अपाहिज सर्टिफिकेट रिन्यू कराने के लिए 4 किलोमीटर की दूरी हाथों और घुटनों के बल पर तय करना मजबूरी ।
जंडियाला गुरु कुलजीत सिंह
भले ही सरकार गरीबों और अपाहिजों की सहायता के लिए बड़े बड़े दावे करती हैं लेकिन आज भी कुछ गरीब अपाहिज ऐसे लोग है जिनकी हालत देखकर आंखों में आंसू आ जाते है ।आज भी पत्रकार को कम्युनिटी हेल्थ सेंटर मानांवाला के बाहर 25 वर्षीय मनप्रीत सिंह पुत्र गुरदेव सिंह निवासी दबुर्जी जो कि दोनों टांगो से अपाहिज है। वह अपने अपाहिज सर्टिफिकेट को रिन्यू कराने के लिए दबुर्जी से कम्युनिटी हैल्थ सेंटर मानांवाला में रिन्यू कराने के लिए 4 किलोमीटर की दूरी तय करके आया ।उसने कहा कि उसके पिता मजदूरी करते हैं ।लोकडौन कि वजह से उनके परिवार की आर्थिक हालत बहुत खराब है ।वह पैसे ना होने के कारण सुबह 8 बजे पैदल यानि बाजुओं और घुटनों के बल चल पड़ा ,रास्ते मे किसी से वह मिन्नते कर लिफ्ट लेकर पहुँचा ।जब उससे यह पूछा गया कि वह वापिस कैसे जाएगा इतनी गर्मी में तो उसने कहा कि अगर किसी ने लिफ्ट दी तो ठीक नही तो वह पैदल ही जायेगा। ऐसे लोगों को सरकार द्वारा घर पर ही सर्टिफिकेट देने की सुविधा करे इसलिए कि रिन्यू करणे काम इनके लिए दुबिधा ना हो ।‏

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।