बद्दी ! फार्मा कंपनी मेंं आग लगने से कोरोडो का नुकसान
June 6th, 2020 | Post by :- | 42 Views

2020 में बददी का सबसे बड़ा अग्निकांड

– आग लगने का कारणों का नहीं चला पता

बद्दी के गैस प्लांट के समीप एक फार्मा कंपनी में अचानक आग लगने से कोरोडो रुपये की संपत्ति जल कर राख हो गई है। दमकल विभाग ने मौके पर पहुंंच कर पानी डाल कर आग पर काबू पाया है। आग लगने का कारणों का अभी तक पता नहीं चल पाया है।
यह हादसा शुक्रवार सुबह सवा पांच बजे हुआ।आयन हेल्थ केयर में अचानक टाप फ़लोर पर सुबह कंपनी के एक कामगार ने धुआं उठते देखा।उसने तुंरत इसकी सूचना कंपनी के सुरक्षा गार्ड को दी। सुरक्षा गार्ड ने कंपनी के संचालक दिव्य प्रकाश सूचित किया। सूचना मिलते ही वह मौके पर पहुंचा और कंपनी के फायर हाईट्रेट से आग बुझाने का प्रयास किया लेकिन आग बुझने का बजाए और अधिक फैलती गई। जिस पर उसने दमकल विभाग को सूचित किया। सूचना मिलते ही दमकल विभाग की टीम फायर आफिसर टेक चंद की नेतृत्व में मौके पर पहुंची। आग अधिक फैले इसके लिए नालागढ़ से भी एक वाहन मंगाया गया। लेकिन आग टाप लोर पर होने पर आग बुझाने में कर्मियों को दिक्कत आई।
जिस पर दमकल विभाग को मौके पर क्रेन मंगानी पड़ी और क्रेन में चढ़ कर आग पर पानी डाला गया। करीब पांच घंटे के कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। मौके पर वर्धमान कंपनी का वाहन भी आग बुझाने के लिए पहुंच गया था। फायर मैन टेक चंद ने बताया कि तीसरी मंजिल में रखा पैकिंग मेटेरियल व सेनीटाईजर से आग फैल गई। फायर कर्मियों ने किसी तरह आग पर काबू पाया। लेकिन टाप प्लौर पर रखा सामान जल कर राख हो गया। लेकिन विभाग ने पहली व दूसरी मंजिल में रखा सामान को सुरक्षित बचा लिया। कंपनी के संचालक दिव्य प्रकाश ने बताया कि आग से हुए नुकसान का मूल्यांकन किया जा रहा है। आग के कारणों का अभी तक पता नहीं .चल पाया है।

आग से फसे कामगार को दमकल विभाग ने सुरक्षित निकाला :-
आयोन हेल्थ केयर कंपनी शुक्रवार सुबह 5 बजे बंद हो गई। लेकिन कंपनी का एक कामगार कंपनी के टाप फ़लोर में ही सो गया। जब आग पूरी तरह से फैल गई तो कामगार की नींद खुली। लेकिन चारों ओर आग लगने से उसने सहायता के लिए शौर मचाया। फायर ब्रिगेड़ के कर्मचारियों ने सीढ़ी लगा कर उसे सुरक्षित नीचे उतारा। नीचे आने के बाद कामगार की जान में जान आई।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।