कोरोना फण्ड फर्जी चैक मामला: सपा-भाजपा नेताओं के खिलाफ धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज
June 6th, 2020 | Post by :- | 154 Views

मथुरा,(राजकुमार गुप्ता)  कोरोना महामारी के नाम पर प्रधानमंत्री-मुख्यमंत्री राहतकोष में चार लाख की राशि के फर्जी चैक जारी करने पर भाजपा सपा के तीन नेताओं के खिलाफ कोतवाली मथुरा में डिप्टी कलक्टर द्वारा धोखाधड़ी का मामला दर्ज कराया गया है।

जिससे राजनैतिक पार्टियों में हड़कम्प मचा हुआ है।एक रतफ पूरा विश्व कोरोना महामारी के संट से जूझता नजर आ रहा है वहीं दूसरी तरफ कथित सामाजिक कार्यकर्ता एवं राजनैतिक पार्टियों के नेता समाज सेवा, प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री राहत कोष में दान देने के ना पर किस तरह सस्ती लोक प्रिययता हांसिल कर रहे हैं |

इसका खुलासा मथुरा में हुआ है जिसमें समाजवादी पार्टी यूथ ब्रिगेड के राष्ट्रीय सचिव निभोर गौतम निवासी सी 38 जनकपुरी महौली रोड़ मथुरा ने 26 मार्च 2020 को मुख्यमंत्री राहत कोष कोटक महिन्द्रा बैंक का 1 लाख की राशि देने का चैक जारी किया था। जबकि 15 सितम्बर 2017 को बैंक में खाता बन्द कर दिया गया था। दूसरा मामला सपा के पूर्व सांस्कृतिक प्रकोष्ठ को प्रदेश उपाध्यक्ष दीपक गौड़ निवासी फरह का है जिन्होंने 24 मार्च 2020 को जिलाधिकारी मथुरा को लिखे पत्र के साथ आईडीबीआई बैंक की 2 लाख की राशि का चैक राहत फण्ड में जारी किया गया। जबकि 1 मार्च से लेकर आज तक ना तो केाई राशि निर्गत को गई और ना ही 29 मार्च 2020 तक खाते में पर्याप्त राशि थी। तीसरा मामला भाजपा के जिला कार्यकारणी सदस्य एवं कान्हा रावत सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष राज कुमार रावत का है। जिसमें भाजपा नेता मुख्यमंत्री राहत कोष में एचडीएफसी बैंक गौशाला रोड़, मथुरा का एक लाख का चैक सोशल मीडिया पर वायरल किया गया।

जबकि जिस खाते से चैक जारी किया गया वह 25 फरवरी 2015 को ही बन्द हो गया था। बड़े पैमाने पर राहत कोष में फण्ड देने वालों के नाम सोशल मीडिया पर वायरल होने लगे तो जिलाधिकारी मथुरा के आदेश पर एडीएम (वि. एवं राजस्व) ने इसकी जांच डिप्टी कलक्टर राजीव उपाध्याय को सौंपी गई। डिप्टी कलैक्टर ने सम्बन्धित बैंकों से जब इसकी जानकारी मांगी तो तीनों का फर्जीवाड़ा सामने आया। फर्जीवाड़ा सामने आने पर डिप्टी कलक्टर राजीव उपाधय ने दीपक गौड़, विभोर गौतम, राजकुमार रावत के खिलाफ कोतवाली मथुरा में मुकद्मा दर्ज किया गया है। बताते हैं कि राजकुमार रावत पूर्व में सपा के जिला सचिव रहे हैं एवं बसपा में भी महत्वपूर्ण पद पर रहे हैं तो कोतवाली निरीक्षक अवधेश प्रताप सिंह ने विषबाण को बताया कि तीनों के खिलाफ 420 का मामला दर्ज कर गिरफ्तारी के प्रयास किये जा रहे हैं। इस सम्बन्ध में सपा जिलाध्यक्षा लोकमणि कान्त जादौन ने विषबाण से बातचीत में कहा कि पार्टी की छवि को साजिश के तहत धूमिल किया जा रहा है। इसे किसी भी कीमत पर बर्दास्त नहीं किया जायेगा। पूरे घटना क्रम से पार्टी हाईकमान को अवगत कराया जा रहा है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।