विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर स्काउट गाइड के द्वारा जिला मुख्यालय पर वृक्षारोपण किया
June 5th, 2020 | Post by :- | 149 Views

मथुरा,( राजकुमार गुप्ता )आज विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर उत्तर प्रदेश भारत स्काउट और गाइड जिला संस्था मथुरा के जिला मुख्य आयुक्त डॉ कमल कौशिक जी के नेतृत्व में स्काउट गाइड के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं द्वारा जिला मुख्यालय(स्काउट कुटीर ) पर उत्साहित रूप से सरकार द्वारा निर्धारित गाइडलाइंस का विशेष ध्यान रखकर प्रकृति की सुंदरता को बनाए रखने के लिए वृक्षारोपण किया गया इस वृक्षारोपण में विभिन्न प्रकार के पौधे लगाए गए साथ ही प्यासे जीव जंतुओं के लिए पानी की व्यवस्था उपलब्ध कराई गई अतः पक्षियों के लिए पेड़ पर परिंदे प्रोजेक्ट के माध्यम से दाना पानी रखा गया। जिला मुख्य आयुक्त जी ने स्काउट कुटीर का भ्रमण कर वहां पर खामियों का जायजा लिया । साथ ही स्काउट कुटीर के विकास के लिए प्रण लिया । जिला मुख्य आयुक्त जी ने बताया दूषित वातावरण के कारण हमारी ओजोन पर काफी प्रभाव पड़ा है अतः ओजोन परत को बचाने के लिए वृक्ष लगाना और पेड़ों को बचाने का कार्य हम सभी को करना चाहिए अतः हमें अपनी प्रकृति की सुरक्षा का दायित्व स्वयं निभाना होगा । इसके लिए आने वाले आगामी समय में इसी प्रकार जिले के विभिन्न क्षेत्रों में वृक्षारोपण किए जाएंगे। आज के वृक्षारोपण कार्यक्रम में मुख्य अतिथि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विभाग प्रचारक श्रीमान गोविंद जी और उनकी टीम उपस्थित रही जिनको संस्था की तरफ से जरूरत मंदो के लिए मास्क और हेड कैप प्रदान की गई । गोविंद जी ने स्काउट गाइड द्वारा लॉक डाउन में किये कार्यों की सराहना और प्रशंसा की उन्होंने बताया स्काउट गाइड संस्था विश्वव्यापी संस्था है सभी देश कोरोना महामारी से ग्रस्त हैं और प्रत्येक स्काउट अपने कर्तव्य का पालन परिपूर्णता के साथ कर रहे हैं साथ ही समाज में किए गए उत्कृष्ट कार्यों की प्रशंसा भी की। आज के कार्यक्रम में मनोज शर्मा जी , निखिल अग्रवाल जी,डॉ मनवीर सिंह जी, गुंजन चौबे, राकेश गोला , हरिओम गुप्ता , कन्हैया शर्मा, प्रेम चंद दीक्षित राजगुरु कैलाश कौशिक , डॉ भगवान सिंह , शुभम चौधरी , नरेन्द्र चौधरी सारिका भाटिया , गुरु प्यारी सत्संगी, रेखा दिक्षित, अंशुल , और प्रदीप आदि मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।