पृथ्वी को हराभरा बनाने व स्वच्छ वातावरण के लिए वृक्षारोपण कर उनकी देखभाल करना बेहद जरूरी:-विधायक असीम गोयल। 
June 5th, 2020 | Post by :- | 152 Views

अम्बाला, ( सुखविंदर सिंह ) विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर मेरा आसमान संस्था द्वारा पक्षियों के लिए दाना पानी सेवा शुरू की गयी और परिंडे तैयार करवा पेड़ो पर लटकाये गए। विधायक असीम गोयल ने पेड़ पर परिंडा  लगाने के साथ उनके लिए दाना और पानी डाल इसकी शुरुआत की। इससे पूर्व विधायक असीम गोयल ने लोक निर्माण विश्राम गृह अम्बाला शहर में पौधारोपण भी किया। इस मौके विधायक असीम गोयल ने सामाजिक संस्थाओ को परिंडे व पौधे भी वितरित किये। 
विधायक असीम गोयल ने इस मौके पर पत्रकारों से बात करते हुए कहा सबसे बड़ा धन बेटी , जल और वन इसलिए इन्हे सरंक्षण की जरूरत है। उन्होंने बताया कि आज 50 संस्थाओं को परिंडे वितरित किये गए है। इस मौके उन्होंने कहा पर्यवरण को संभालने की जरूरत है। हमारे पूर्वज जो विरासत हमे दे गए थे हमे अपने आने वाली पीढ़ी को यह विरासत देनी चाहिए।
उन्होंने कहा कि पृथ्वी को हराभरा बनाने व स्वच्छ वातावरण के लिए वृक्षारोपण कर उनकी देखभाल करना आज के समय की जरूरत हैं। वनों से न केवल हमें ईमारती लकड़ी, चारा, औषधी तथा अन्य लघु वन उपज प्राप्त होती हैं बल्कि ये पर्यावरण प्रदूषण की रोकथाम व इसके संरक्षण तथा प्राकृतिक संतुलन को बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। ये वातावरण में कार्बन डाई आक्साईड के स्तर को कम करने में सहायक होते हैं तथा वृक्षों से हमें प्राण वायु आक्सीजन प्राप्त होती हैं। उन्होंन कहा कि हमें अपने जन्मदिवस या किसी भी पर्व पर पौधे लगाने का प्रण लेना चाहिए और इसके साथ-साथ पौधों की देखभाल भी करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि हम सब मिलकर स्वच्छ पर्यावरण बनाये रखने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं।
इस मौके पर चित्रकूट सोसायटी से राकेश खन्ना, नगर सेवा सदन  से जोगिन्द्र बजाज, माडल टाउन वैल्फेयर एसोसिएशन से वीनू गर्ग, राम नगर सोसायटी से अर्चना छिब्बर, हर्बल पार्क सोसायटी से सतीश कालड़ा, प्रेमनगर पार्क से प्रीतम गिल, कांशीनगर पार्क से हरप्रीत भल्ला, जैन नगर सभा से पप्पु जैन, कमल विहार पार्क से अमन सूद, मातृभूमि सेवा सोसायटी से चंद्रमोहन फौजी, पंजाबी बिरारदरी विकास सभा से कवंल थापर, संजीव टोनी, हितेष जैन, एडवोकेट संदीप सचदेवा, नरेन्द्र भलोठिया, अर्पित अग्रवाल आदि उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।