पर्यावरण की शुद्धता हेतु बेहद जरूरी है हर नागरिक का प्रयास: दलबीर मलिक
June 5th, 2020 | Post by :- | 115 Views

कुरुक्षेत्र, ( सुरेशपाल सिंहमार )    ।         पर्यावरण की शुद्धता हेतु बेहद जरूरी है हर नागरिक का प्रयास यह शब्द आज राजकीय माध्यमिक विद्यालय झिवंरहेडी के मुख्याध्यापक दलबीर मलिक ने विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर लोगों को जागरूक करते हुए कहे ।

उन्होंने आनॅलाइन छात्रों एवं अभिभावकों को सम्बोधित करते हुए कहा कि भविष्य में आने वाली प्रलय को रोकने के लिए पौधारोपण जरूरी है । पर्यावरण को ठीक रखने के लिए हमे वो सब काम करने होंगे जो अब तक हमने नहीं किये। मसलन पानी बचाना; पेड़ लगाना; प्रदूषण कम करना; हानिकारक रसायनों का इस्तेमाल कम करना ;वर्षा जल का संचयन; पैदावार के लिए आर्गेनिक खाद का प्रयोग करना चाहिए । भारत में पर्यावरण कानून का इतिहास 125 वर्ष पुराना है। प्रथम कानून सन् 1894 में पास हुआ था, जिसमें वायु प्रदूषण नियंत्रणकारी कानून थे। वर्तमान समय में पर्यावरण संरक्षण एक जटिल समस्या है तथा वह संपूर्ण विश्व के लिए चुनौती है। आज का बढ़ता हुआ प्रदूषण संपूर्ण मानव-जाति के लिए अभिशाप बन गया है। मानव के अतिरिक्त वन एवं वन्य जीव प्रदूषण से त्रस्त हैं। इसी कारण संविधान में पर्यावरण संरक्षण पर विशेष बल दिया जा रहा है तथा इस समस्या से निपटने के लिए समय-समय पर कई कानून भी बनाए गए हैं। जल प्रदूषण अधिनियम पर्यावरण संरक्षण अधिनियम, 1986 भारतीय वन अधिनियम, 1927 वन संरक्षण अधिनियम, 1980 वन संरक्षण नियम, 1981 वन्य प्राणी सुरक्षा अधिनियम, 1972 मोटर गाड़ी अधिनियम इत्यादि । मलिक ने पर्यावरण दिवस के मौके पर कहा कि  जहां पूरी दुनिया ग्लोबल वार्मिंग जैसी जटिल समस्या से लड़ने के उपाय ढूंढ रही हैं वहीं आप और हम अपनी दिनचर्या में थोड़ी सी सावधानी या बदलाव लाकर पर्यावरण को बचाने में बड़ा योगदान कर सकते हैं। इसके लिए हमें ज्यादा कुछ करने की ज़रुरत नहीं है बल्कि छोटी-छोटी सावधानी से हम काफी ऊर्जा बचा सकते हैं। जैसे जब आप घर पर हों ते घर के उन सभी लाइट्स और उपकरणों को ऑफ रखें जो इस्तेमाल में नहीं आ रहे हैं। इसकी मदद से आप करीब 10-40 प्रतिशत तक बिजली की खपत बचा सकते हैं। पीने के पानी का उतना ही इस्तेमाल करें जितने की वास्तव में जरूरत है और उसे फेंकना न पड़े। अपने फ्रिज का दरवाजा देर तक खुला न रखें। ईंधन बचाने के लिए अपने वाहन के टायरों में हवा का दवाब उचित मात्रा में रखें। घर से कपडे का बैग लेकर चलें और खरीदारी के समय ज्यादा प्लास्टिक बैग्स के इस्तेमाल से बचें। गर्मियों मे हर वक्त एयरकंडीशनर चलाने की बजाय हल्के कपड़े पहनें और पंखे का इस्तेमाल करें। ट्रांसपोर्ट के इस्तेमाल को कम करें पैदल चलें या बाइक से। इलेक्ट्रिक से चलने वाली कार से कम कार्बन डाइआक्साइड उत्सर्जित होती है, और साइकिल से बिल्कुल नहीं। लोगों को जागरुक करें। साधारण बल्बों की जगह सीएफएल का इस्तेमाल करें।

इससे आप तीन से पांच गुना तक बिजली बचा सकते हैं इसलिए हर नागरिक का कर्तव्य बनता है कि वह पर्यावरण की शुद्धता हेतु हर सम्भव प्रयास करे ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।