कोविड लोकडाउन में नशेडिय़ों का अड्डा बना कालेज स्टेडियम, पुलिस व सरकार बेखबर : दीपांशु बंसल
June 5th, 2020 | Post by :- | 142 Views

कालका (हरपाल सिंह) :

जिला पुलिस की लापरवाही के कारण कोरोना महामारी लोकडाउन में निर्माणाधीन कालका कालेज स्टेडियम नशेडिय़ों का अड्डा बन कर रह गया है जिसके चलते करोड़ो की लागत से बनने वाले स्टेडियम का उपयोग अब इलाके के छात्रों द्वारा न होकर नशेडिय़ों द्वारा किया जा रहा है,यह कहना कांग्रेस छात्र इकाई एनएसयूआई आरटीआई सेल के राष्ट्रीय कन्वीनर व राष्ट्रीय खिलाड़ी रह चुके दीपांशु बंसल का है। दीपांशु बंसल ने कहा कि कालका कालेज स्टेडियम का निर्माण तो छात्रों को खेलो में आगे बढ़ाने के नजरिए से किया गया था परन्तु पुलिस व राज्य सरकार की लापरवाही के चलते इसका उपयोग शराब पीने,विभिन्न प्रकार के नशे करने के लिए नशेडिय़ों द्वारा किया जाता है और पुलिस द्वारा इस ओर कोई कार्यवाही नही की जाती। चिंता व्यक्त करते हुए दीपांशु बंसल ने कहा कि जब शहर के बीचोबीच सरकारी सम्पति का स्टेडियम ही सुरक्षित नही तो आमजनमानस की सुरक्षा पर प्रश्नचिह्न खड़ा हो जाता है क्योंकि गत दिनों ही कालका कालेज स्टेडियम का ताला तोड़ा गया है वही इससे पूर्व भी अनेको बार निर्माण सामग्री समेत समान की चोरी हो चुकी है।इससे पूर्व भी प्रशासन व राज्य सरकार को सचेत किया गया था कि स्टेडियम का उपयोग नशेडिय़ों द्वारा किया जा रहा है परन्तु इसे गंभीरता से नही लिया गया,मसलन लोकडाउन में नशेडिय़ों का अड्डा बन कर रह गया।दीपांशु बंसल के अनुसार इलाके में एक ही स्टेडियम बन रहा है जिसकी देखबाल जरूरी है।

दारू की टूटी हुई बोतलें-सिरेन्जिस-नशीले पदार्थो के कवरो से भरा पड़ा है ग्राउंड…

दीपांशु बंसल ने कहा कि जब उन्हें कालेज के छात्रों व युवाओ ने इस बारे सूचना दी तो उन्होंने मौके का मुयाना करवाया जहां दारू की बोतले,टूटी हुई दारू की बोतले,नशीले पदार्थो के सेवन करने पश्चात कवर,सिरेन्जिस व अन्य नशीली चीजे देखने को मिली तथा ताला भी टूटा हुआ मिला जिससे युवाओ का भविष्य अंधकार में दिख रहा है।

जिले भर में करोड़ो के किए हजारो चालान,नशेडिय़ों पर लगाम कसने में फेल सरकार व पुलिस..

दीपांशु बंसल ने कहा कि कोरोना महामारी लोकडाउन के समय ही जिला पुलिस द्वारा 10 हजार से ज्यादा चालान कर करोड़ो का राजस्व इक_ा किया गया परन्तु नशेडिय़ों का कारोबार सरेआम चला जिसमे शराब माफिया ने दारू बेची,नशा कारोबारियों ने नशा और कालका स्टेडियम जिसका उपयोग खेलो के लिए किया जाना चाहिए था उसका उपयोग नशेडिय़ों द्वारा किया गया।

कब तक होना चाहिए था खेल स्टेडियम का निर्माण?…

दीपांशु बंसल ने कहा कालेज स्टेडियम 2016 तक बन जाना चाहिए था परन्तु अब राज्य सरकार की अनदेखी के कारण निर्माण कार्य पूरा नही किया गया है।जहा एक तरफ मुख्यमंत्री खेल में बढ़ावा का दावा करते है वही जिस स्टेडियम का निर्माण 6 महीने में होना चाहिए था उसे 60 महीनो में भी पूरा नही कर सके जोकि सरकार के दावों की पोल खोलता है।

इलाके में नही कोई खेल स्टेडियम …..

दीपांशु बंसल ने बताया कि हल्के में कोई खेल स्टेडियम युवाओ के लिए नही है।भाजपा सरकार युवाओ व खिलाडिय़ों के हित मे नही है जबकि ब्लाक स्तर पर खेल स्टेडियम का निर्माण करके युवाओ को खेल में बढ़ावा दिया जाना जरूरी है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।