हिसार में सैनिटाइजर का लेबल लगा बेचा जा रहा था फर्श साफ करने वाला लिक्विड
June 5th, 2020 | Post by :- | 87 Views

हिसार लवकेश कथूरिया:- सैनिटाइजर का लेबल लगाकर फर्श साफ करने वाले लिक्विड को मनोज यादव नामक दवा दुकानदार द्वारा बेचा जा रहा था। जिसका खुलासा हिसार में हुआ है और इसके तार रोहतक समेत दमन से जुड़े है। गत दिवस जिला ड्रग कंट्रोलर डॉ. सुरेश चौधरी व उनकी टीम ने कटला रामलीला मैदान स्थित रक्षित फार्मा पर छापामार कार्रवाई की।  जांच में सामने आया कि डिसइंफेक्शन की बोतल पर हैंड सैनिटाइजर का नकली मार्का लगा इनको बेचा जा रहा था। ड्रग कंट्रोलर डॉ. सुरेश चौधरी ने बताया कि इन बोतलों पर बेक्टोरब ब्लू और हैंड सैनिटाइजर का मार्का लगा हुआ मिला, जबकि यह टेबल या फर्श साफ करने का डिसइंफेक्शन है। जब संचालक मनोज यादव से इसका बिल मांगा गया तो उनमें हैंड सैनिटाइजर की जगह डिसइंफेक्शन या बेक्टोरब ब्लू ही लिखा हुआ था। इतना ही नहीं, जहां 500 एमएल की प्रति बोतल के ऊपर 630 रुपये एमआरपी दर्शाया गया, लेकिन बिल में 250 रुपये एमआरपी मिला। जिला ड्रग कंट्रोलर ने कहा कि रक्षित फार्मा से डिसइंफेक्शन की 10 बोतलें बरामद हुए, जिन पर नकली हैंड सैनिटाइजर का मार्का था। सभी बोतलों के सैंपल सील कर चंडीगढ़ भेजे गए हैं। वहीं ड्रग कंट्रोलर की शिकायत पर रक्षित फार्मा संचालक मनोज यादव, रोहतक से मल्होत्रा ट्रेडर्स, मुंबई में इसके मैनेजिंग डायरेक्टर हितेन प्रवीन शाह, डायरेक्टर भोवली निहिल शाम व अन्य के खिलाफ सिटी थाने में धोखाधड़ी सहित कई धाराओं के तहत केस दर्ज किया गया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।