मण्डलायुक्त अनिल कुमार ने कलेक्ट्रेट सभागार में कोरोना वायरस कोविड-19 के संबंध में बैठक लेते हुए आवश्यक निर्देश दिये।
June 5th, 2020 | Post by :- | 149 Views

मथुरा,(राजकुमार गुप्ता) मण्डलायुक्त अनिल कुमार ने कलेक्ट्रेट सभागार में कोरोना वायरस कोविड-19 के संबंध में बैठक लेते हुए आवश्यक निर्देश दिये।

उन्होंने कोविड-19 के अन्तर्गत जनपद में किए जा रहे कार्यों की समीक्षा की, जिसमें अवगत कराया गया कि जनपद में कुल 88 केस आए, जिनमें से 60 रिकवर हो गए तथा 06 लोगों की मृत्यु हो गई एवं 22 लोग एक्टिव हैं। मण्डलायुक्त को बताया गया कि 27 हाॅटस्पाॅट क्षेत्र थे, जिनमें से 09 ग्रीन जोन में, 06 आॅरेंज जोन में आ गए हैं तथा 12 रेड जोन में हैं।

आयुक्त द्वारा रेड जोन में निवास कर रहे सभी वृद्ध, डायबिटिक, हायपर टेंशन एवं गर्भवती महिलाओं का विशेष ध्यान रखने के निर्देश देते हुए कहा गया कि सभी की सैम्पलिंग कराई जाए। उन्होंने हाॅटस्पाॅट क्षेत्रों में मल्टी विटामिन दवा वितरित करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि हाॅटस्पाॅट क्षेत्रों के बाहर रजिस्टर मैनटेन किया जाए, जिसमें प्रत्येक आने-जाने वाले व्यक्ति की सूचना आवश्यक रूप से अंकित की जाए। उन्होंने प्रत्येक कोविड मरीजों का नाम लेकर उनके सम्पर्क में आये व्यक्तियों की विस्तृत रूप से जानकारी प्राप्त की।

श्री कुमार ने कोविड-19 की सैम्पलिंग को और अधिक बढ़ाने के निर्देश देते हुए कहा कि 150 व्यक्तियों की सैम्पलिंग प्रतिदिन की जाए। आयुक्त को बताया गया कि एक या दो दिन में वेटरिनरी काॅलेज में कोविड-19 की टेस्टिंग शुरू हो जाएगी, जिससे और अधिक शीघ्रता से कोविड-19 के मरीजों की पहचान हो सकेगी। उन्हें बताया गया कि अब तक 5 लाख से अधिक लोगों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है। संदिग्ध व्यक्तियों के मिलने पर उनके सैम्पल लिये जा रहे हैं।

आयुक्त द्वारा बाहर से आए मजदूरों की स्थिति की जानकारी ली गई, जिसमें बताया गया कि 2634 लोगों के यहां प्लायर/पम्पलेट लगा दिया गया है। 95 प्रति कार्य पूर्ण हो चुका है।

मुख्य विकास अधिकारी नितिन गौड़ ने बताया कि नंदगांव एवं नौहझील में प्लायर/पम्पलेट लगाने के कार्य में कुछ कमी पायी गयी है, इस पर संबंधित व्यक्तियों के विरुद्ध कार्यवाही की जा रही है।

श्री कुमार ने निर्देश दिए कि लाॅक डाउन धीरे-धीरे खुल रहा है और बाहर के मजदूरों का आगमन भी हो रहा है। ऐसे में प्रशासन एवं पुलिस की जिम्मेदारियां और अधिक बढ़ गयी हैं। उन्होंने प्रत्येक दशा में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने एवं मास्क लगाकर निकलने पर विशेष जोर दिया। उन्होंने निर्देश दिए कि जो लोग पाॅजिटिव आये हैं, उनके सम्पर्क की गहराई से जांच की जाए। आयुक्त ने निर्देश दिए कि जनपद में कोविड-19 के अतिरिक्त अन्य मरीजों को भी सरकारी एवं प्राईवेट अस्पतालों में निरंतर देखा जाए। इस पर मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा बताया गया कि जनपद में 70 इकाईयां मरीजों को देखने का कार्य रही हैं।

आयुक्त ने आईसोलेशन एवं क्वांरटाइन वार्डों में मरीजों को दिए जाने वाले भोजन पानी की व्यवस्था की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने निर्देश दिए कि प्रत्येक बिस्तर से प्रतिदिन बेडशीट बदली जाये और वार्डों में विशेष सफाई रखी जाए।

बैठक के पश्चात आयुक्त द्वारा जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्र, नगर आयुक्त रविन्द्र कुमार मांदढ़ के साथ जिला अस्पताल का औचक निरीक्षण किया गया। उन्होंने अस्पताल में जाकर ड्यूटी पर तैनात डाॅक्टर से पूछा कि मरीज के आने पर किस तरीके से जांच की जाती है। डाॅक्टर ने बताया कि पहले मरीज को सेनेटाइज किया जाता है, फिर मरीज से बीमारी के बारे में पूछा जाता है। संदिग्ध होने पर सैम्पलिंग कराकर उसे अलग वार्ड में भेज दिया जाता है। सामान्य स्थिति में उसे अलग वार्ड में रखकर इलाज किया जाता है।

आयुक्त ने सीएमएस से पूछा कि वर्तमान में कितने मरीज उपस्थित हैं और उन्हें किस तरह की बीमारी है, जिसमें बताया गया कि इस समय 20 मरीज हैं, जिन्हे पेट दर्द, उल्टी आदि की शिकायत है। आयुक्त ने प्रत्येक सीएचसी पर सैम्पलिंग कराने के भी निर्देश दिए। आयुक्त ने आज की गई सैम्पलिंग के बारे में जानकारी ली, जिसमें बताया गया कि आज 100 नमूने लिये गये हैं।

बैठक में जिलाधिकारी सर्वज्ञराम मिश्र ने बताया कि 1821 व्यक्तियों को होम क्वांरटाइन किया गया है और उन पर निगरानी समितियां पैनी नजर रखे हुए हैं। होम क्वांरटाइन का पालन न करने पर 25 लोगों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। उन्होंने बताया कि सभी कार्यालय एवं औद्योगिक संस्थाओं को सेनेटाइज करने एवं सरकार द्वारा प्राप्त कोविड-19 के निर्देशों के पालन करने के निर्देश दिए गए हैं।

श्री मिश्र ने बताया कि जनपद में केडी अस्पताल में आईसोलेशन हेतु 100 बेड तैयार हैं और आवश्यकता पड़ने पर अन्य बेडों को तैयार करने के निर्देश दिए गए हैं। इसी प्रकार जनपद के अन्य अस्पतालों में भी कोविड-19 के बेड़ों को तैयार किया गया है।

इस अवसर पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा. गौरव ग्रोवर, उपाध्यक्ष एमवीडीए नगेन्द्र प्रताप, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व बृजेश कुमार, नगर मजिस्ट्रेट मनोज कुमार सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. संजीव यादव, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा. राजीव गुप्ता सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।