त्रिवेणी रोपित करने से उत्तम कोई ईश्वरीय आराधना नहीं: अरुण आश्री
June 4th, 2020 | Post by :- | 55 Views

कुरुक्षेत्र, ( सुरेशपाल सिंहमार )  ।     विश्व पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य में मुख्य अतिथि जिला शिक्षा अधिकारी अरुण आश्री ने विशिष्ट अतिथि उद्योगपति जय भगवान सिंगला, आशा सिंगला,  एसडीओ रामपाल सिंगला, सेक्टर 30 रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन के प्रधान पंडित सुरेश कुमार, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय हथीरा के जीवविज्ञान प्राध्यापक डॉ तरसेम कौशिक, आगम प्रकाश, सत्यवीर कौशिक, एसोसिएट एनसीसी ऑफिसर डॉक्टर केवल कृष्ण के साथ सामाजिक दूरी का निर्वहन करते हुए प्रेरणा कुरुक्षेत्र एवं वसुधैव कुटुंबकम संस्कृति सेवा आयाम के तत्वावधान में सेक्टर 30 के जलघर परिसर में त्रिवेणी लगाई।

मुख्य अतिथि अरुण आश्री ने कहा कि त्रिवेणी तीन दैवीय पेड़ों पीपल, बरगद व नीम का संगम है जिसमे ब्रह्मा, विष्णु व महेश का वास माना गया है।

अरुण आश्री ने कार्यक्रम के संयोजक जीवविज्ञान प्राध्यापक डॉ तरसेम कौशिक, न्यास के महासचिव डॉ केवल कृष्ण, टिक्का सिंह, बंसीलाल, आगम प्रकाश, डॉ सुनील वत्स, ध्रुव कौशिक व अन्य पर्यावरण प्रेमियों का उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि त्रिवेणी को लगाने, लगवाने या इसकी सेवा करने से उत्तम कोई ईश्वरीय आराधना नहीं है।

त्रिवेणी के तीनों पेड़ आध्यात्मिक व पर्यावरणीय दृष्टि से श्रेष्ठ हैं क्योंकि ये शीतलता के साथ साथ पशु पक्षियों के संरक्षण व संवर्धन में भी उपयोगी भूमिका निभाते हैं। विशिष्ट अतिथि जय भगवान सिंगला ने कहा कि त्रिवेणी न केवल हमें संस्कृति व आध्यात्मिकता से जोड़ती है अपितु जीव जंतुओं में प्राण वायु का संचार भी करती है। उन्होंने कहा कि विश्व पर्यावरण दिवस मनाने का उद्देश्य प्रकृति को न केवल प्रदूषण मुक्त करना है अपितु समाज में पर्यावरण के प्रति जागरूकता फैलाना भी है। अरुण आश्री ने कहा कि पेड़-पौधों की निरंतर कमी वायुमंडलीय प्रदूषण को दिन-प्रतिदिन बढ़ा रही है, जिसके कारण विभिन्न प्रकार की बीमारियां ने हमें घेर लिया है तथा हमारा पर्यावरण संकट में पड़ गया है। अतः पर्यावरण को संरक्षित करने के लिए पौधारोपण अत्यंत आवश्यक है। डॉ तरसेम कौशिक ने जिला शिक्षा अधिकारी अरुण आश्री, समाजसेवी जयभगवान सिंगला, रामपाल सिंगला व अन्य पर्यावरण प्रेमियों का धन्यवाद करते हुए कहा कि प्रेरणा कुरुक्षेत्र एवं वसुधैव कुटुम्बकम संस्कृति सेवा आयाम के अंतर्गत इस वर्ष बारिश के मौसम में कुरुक्षेत्र के विभिन्न स्थलों पर त्रिवेणी रोपित करने का संकल्प किया है ताकि हम प्रकृति के कर्ज से उऋण हो सकें क्योंकि प्रकृति सुजला, सुफला, श्यामला है, जो हमारे अंदर प्राणवायु का संचार करती है।

इस अवसर पर प्रसिद्ध समाजसेवी जय भगवान सिंगला, आशा सिंगला, आगम प्रकाश, सरदार इंदरजीत सिंह, एसडीओ रामपाल सिंगला, सेक्टर 30 रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशन के प्रधान पंडित सुरेश कुमार,  डॉ तरसेम कौशिक, डॉ केवल कृष्ण, टिक्का सिंह, बंसीलाल, डॉ सुनील वत्स, सत्यवीर कौशिक, ध्रुव कौशिक, मनीष जिंदल,  सुरेंद्र मढ़ान, जलघर इंचार्ज रामू इत्यादि उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।