मेवात मॉडल स्कूल के टीचर्स ने लगाए सरकार के खिलाफ नारे
September 6th, 2019 | Post by :- | 80 Views

मेवात (सद्दाम हुसैन) बृहस्पतिवार को जिला सचिवालय में जिले के सैकड़ों कर्मचारियों ने अपनी विभिन्न मांगों को लेकर अपनी बाजूुओं पर काली पट्टी बांधकर सरकार के खिलाफ प्रर्दशन किया। इस दौरान मुख्य रूप से मेवात मॉडल स्कूल एम्पलाइज एशोसिएशन, ग्रामीण सफाई कर्मचारी, मिड डे मील, ग्रामीण चौकीदार, बिजल निगम के कर्मचारी मौजूद रहे। कर्मचारियों ने नगराधीश गजेंद्र सिंह के माध्यम से प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। इस मौके पर सीटू के प्रदेश अध्यक्ष सतबीर सिंह, सर्व कर्मचारी संघ के जिला प्रधान तैय्यब हुसैन, ग्रामीण सफाई कर्मचारी संघ के जिला प्रधान महेश चंद व मेवात मॉडल स्कूल एसोसिएशन के जिला अध्यक्ष सतीश खटाना मुख्य रूप से मौजूद रहे। इस मौके पर उन्होंने कहा कि सरकार अभी तक कर्मचारियों के हितों की रक्षा करने में नाकाम साबित हुई है। हर बार सरकार के साथ वार्तालाप में उन्हें केवल आश्वासन दिया जाता है। आज विभागों में कई दशकों से कर्मचारी कच्चे पदों पर ही काम कर रहे हैं।

जनता के प्रतिनिधि चुनावों के समय जनता के बीच जाकर बड़ी बड़ी बात करते हैं। लेकिन चुनावों के बाद वह अपने कमरों में बंद हो जाते हैं। आज कई क्षेत्रों में कर्मचारियों के सामने उनकी रोजी रोटी को बचाने का संकट पैदा हो रहा है। इसलिए सरकार को समय रहते उनकी समस्याओं का प्रमुखता के साथ समाधान कराना चाहिए। वहीं मेवात मॉडल स्कूल के कर्मचारी भी कई वर्षों से संघर्ष कर रहे हैं। बीते कुछ दिनों से वह अपनी आवाज को सरकार के समक्ष विभिन्न मंचों पर उठाते रहे हैं।

सूबे के मुख्यमंत्री व शिक्षामंत्री से भी गुहार लगा चुके हैं। हर बार उन्हें मांगों को पूरा कराने का सिर्फ झूठा आश्वासन ही दिया जाता है। ऐसे में उन्होंने कहा कि अब वह सरकार से आरपार की लड़ाई को लडऩे के लिए तैयार है। अगर उनकी मांगे नहीं मानी जाती तो वह कभी भी अनिश्चितकालीन धरने पर जा सकते हैं। उन्होंने बताया कि उनके साथ सरकार बहुत बड़ा धोखा कर रही है। जिससे वह हताश हो रहे हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।