नगरपालिका पुन्हाना में तीन अधिकारी सस्पेंड , राजनीति में आई गर्माहट
June 2nd, 2020 | Post by :- | 28 Views
नूंह मेवात , ( लियाकत अली )  ।  शहरी स्थानीय निकाय विभाग के एसीएस एसएन राय ने नगर पालिका पुनहाना के सचिव सहित तीन अधिकारियों को सस्पेंड करने के आदेश जारी किए हैं । तीन बड़े अधिकारियों के सस्पेंड होने से शहर की राजनीति पूरी तरह से गरमा गई है । तीन अधिकारियों को निलंबित करवाने में सफल रहे अब आधा दर्जन नगरपालिका पार्षदों ने चेयरपर्सन रुबीना के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है । दूसरी तरफ चेयरपर्सन रुबीना अपनी कुर्सी बचाने के लिए जी तोड़ कोशिश कर रही है । अब देखना यह है कि शय और मात के खेल में जीत किसकी होती है । वैसे तीन अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई होने से शिकायतकर्ता पार्षद गुट के लोगों के हौसले अब बुलंद हैं । वाइस चेयरमैन बलराज सिंगला एवं अन्य पार्षदों ने वर्ष 2017 में चेयरपर्सन रुबीना के अलावा नगरपालिका सचिव सुनील कुमार रंगा , एमई डालचंद शर्मा तथा जीतराम जेई के खिलाफ पुन्हाना शहर की आबादी के अंदर आ चुकी यूपी कैनाल की पटरी पर इंटरलॉकिंग टाइल इत्यादि बिछाकर विकास कार्य कराने की शिकायत जिला प्रशासन से लेकर शहरी स्थानीय निकाय विभाग को की थी , लेकिन जब कार्रवाई नही हुई तो नाराज पार्षदों ने लोकायुक्त हरियाणा के दरबार में शिकायत की थी। शिकायतकर्ता पार्षदों का आरोप है कि नगरपालिका चेयर पर्सन तथा नपा के अधिकारियों ने उत्तर प्रदेश सरकार से बिना अनुमति के यह कार्य करवाया , जबकि इसके लिए किसी सीनियर अधिकारी की अनुमति लेना जरूरी था ।पार्षदों का आरोप है कि जिस लाखों रुपए की धनराशि का खर्च शहर के विकास के लिए कराया जाना था , वह राशि नियम / कानून को ताक पर रखकर गलत जगह पर लगाई गई । कई साल तक जब मामले में कार्रवाई नहीं हुई तो पार्षदों ने इसकी शिकायत लोकायुक्त हरियाणा से वर्ष 2020 की शुरुआत में की थी । उसी की बदौलत आज शहरी स्थानीय निकाय विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव ने संज्ञान लिया है। विरोधी पार्षद अब चेयरपर्सन रुबीना की कुर्सी को गिराने के लिए जोड़ – तोड़ में जुट गए हैं । वाइस चेयरमैन बलराज सिंगला के अलावा उनके वकील मुमताज हुसैन तथा पार्षद पति रोहतास सैनी ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा की जिस मामले में नगरपालिका सचिव सहित तीन अधिकारी सस्पेंड हुए हैं , उनको चार्जशीट कराने के बाद दम लिया जाएगा। इसके अलावा चेयरपर्सन की कुर्सी को लेकर फैसला सरकार को करना है , उन्हें उम्मीद ही नहीं बल्कि पूरा भरोसा है चेयरपर्सन रुबीना की कुर्सी भी जल्द ही चली जायेगी।
क्या है खास :- पूर्व विधायक रहीस खान के कार्यकाल में इस कैनाल पर विकास कार्य हुए थे। उनका आवास भी इसी कैनाल से लगता हुआ है। चैयरपर्सन रुबीना के ससुर एवं पूर्व चैयरमेन समसुद्दीन पूर्व विधायक रहीस खान के सबसे करीबी हैं। जब रहीस खान से सत्ता की चाबी जनता ने छीन ली तो अब उनके समर्थकों पर भी संकट के बादल मंडराने लगे हैं। वैसे इसी राजनीति की भेंट तीन अधिकारी चढ़ चुके हैं। अब देखना यह कि इस राजनीतिक उठापटक में कितने अधिकारी – कर्मचारी के अलावा ठेकेदारों पर गाज गिरती है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।