रेडक्रॉस खाना , मास्क इत्यादि देने में निभा रहा अहम भूमिका
May 31st, 2020 | Post by :- | 79 Views

नूंह मेवात , ( लियाकत अली )  ।  कोरोना से निपटने में जिला रेडक्रास समिति नूह की भूमिका को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता । जबसे नूह जिले में कोरोना ने दस्तक दी है । उसी समय से डीसी पंकज नूह के आदेश पर जिला रेडक्रास समिति के सदस्य लगातार डॉक्टरों व अन्य स्टाफ को न केवल दोनों समय का भोजन उपलब्ध करा रहे हैं , बल्कि जिन गांवों में कोरोना केस मिलते हैं । उन गांव में बड़े पैमाने पर घर – घर जाकर मास्क का वितरण किया जाता है । जिला रेडक्रास समिति अब तक 50 – 60 हजार मास्क वितरण कर चुकी है। जिला प्रशिक्षण अधिकारी नरेंद्र कुंडू ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि हाल के दो – तीन दिनों में अकबरपुर बिस्सर में 4 हजार मास्क , मोहम्मदपुर अहीर गांव में 2 हजार मास्क ,  नई गांव में 4 हजार मास्क वितरण किए जा चुके हैं । आज उनकी टीम घासेड़ा गांव में मास्क का वितरण करेगी । इसके अलावा एकांतवास तथा आइसोलेशन वार्ड जो भी जिले में बनाए गए थे , उनमें भी खाना पहुंचाने की जिम्मेवारी जिला रेडक्रास समिति नूह ने ही निभाई है। नरेंद्र कुंडू ने बताया कि इसके अलावा नूह जिले से दूसरे राज्यों के लिए जाने वाले प्रवासी मजदूरों को जब बसों में सवार किया जाता है , तो उनके हाथों को सैनिटाइज कराया जाता है । उनको खाना तथा पानी के पैकेट दिए जाते हैं । सैनिटाइजर की शीशी दी जाती है। इसके अलावा हर व्यक्ति को दो – दो मास्क दिए जाते हैं । उसके बाद व खुद को सैनिटाइज करते हैं । सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखते हैं । साबुन से बार – बार उनके कर्मचारी हाथ धोते हैं , ताकि उनमें खुद में कोरोना संक्रमण ना  फैल सके । कुल मिलाकर जिला रेडक्रास समिति नूह के साथ अहम भूमिका निभाई है । यही वजह है कि ईद से ठीक 1 दिन पहले नूह जिला कोरोना फ्री हो चुका था। उसमें जितनी भूमिका डॉक्टर ,नर्स , पुलिस या अन्य लोगों की है ।उससे कहीं अधिक जिला रेडक्रास समिति ने अपना रोल निभाया है । अभी भी लगातार जिला रेडक्रास समिति अपने काम को बखूबी अंजाम देने में लगी हुई है । एक दिन भी इस तरह की शिकायत जिले में नहीं मिली है कि किसी डॉक्टर या किसी एकांतवास सेंटर में खाना खराब मिला हो या समय पर नहीं पहुंचा हो । कुल मिलाकर जिस तरह से जिला रेडक्रास समिति नूह काम कर रही है । उसकी जितनी प्रशंसा की जाए उतनी कम है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।