“रक्तदान गाँव की ओर” मुहिम के अन्तर्गत गाँव मर्रोली कें 55 अन्नदाता भी बने रक्तदाता|
May 31st, 2020 | Post by :- | 32 Views

पलवल हसनपुर (मुकेश वशिष्ट) :-  जिले के गाँव मर्रोली में विश्व तम्बाकू निषेध दिवस पर ‘रक्तदान गाँव की ओर’ मुहिम के अन्तर्गत युवा संगठन मर्रोली, पलवल डोनर्स क्लब ज्योतिपुंज ने जिला रेड क्रॉस सोसायटी पलवल के सहयोग से  “होडल तहसील के मर्रोली गाँव में लाईफ लाइन चैरिटेबल ब्लड बैंक के सहयोग से एक स्वैच्छिक रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। जिसमें 55 रक्तवीरों ने बढ चढ कर हिस्सा लिया।  शिविर की अध्यक्षता युवा संगठन मर्रोली के अजय कुमार और पलवल डोनर्स क्लब ज्योतिपुंज के मुख्य संयोजक आर्यवीर लॉयन विकास मित्तल ने की और  कैम्प का संयोजन समाजसेवी श्रीचंद देशवाल , क्लब की सह संयोजक अल्पना मित्तल,  युवा किसान पुत्र मनोज सौरोत और गौरव सौरोत ने किया।

शिविर का शुभारम्भ जिला रेड क्रॉस सोसायटी नूह के सह सचिव बिजेन्द्र सौरोत ने किया।  बिजेन्द्र सौरोत ने कहा कि जो किसान अन्न उगाकर हमारा पेट भरता हैं वही रक्तदान कर लोगों की जान भी बचा सकता है। चिकित्सा विज्ञान के क्षेत्र में तमाम तरक्की के बावजूद रक्त को किसी लैब, फैक्टरी या संस्थान में तैयार नहीं किया जा सकता हैऔर न हीं मनुष्य को जानवर का खून दिया जा सकता है। रक्तदान करने से लोग कुछ हिचकते हैं जो गलत है। रक्त दान करना एक उत्तम कार्य है। आर्यवीर लायन विकास मित्तल ने कहा कि खुन के रिश्ते को दुनिया का सबसे अटूट बंधन माना जाता है और अपनी रगों में बहते खून के चंद कतरे `दान’ करके आप अनजाने लोगों से भी खून का रिश्ता जोड़ सकते हैं।

शिविर संयोजक अल्पना मित्तल और अजय कुमार ने बताया कि शिविर में मोहनवती के साथ साथ लगभग 35 रक्तदाताओ  ने पहली बार  रक्तदान करके रक्त की कमी को दूर करने में महत्वपूर्ण योगदान दिया ।

शिविर को सुचारू रूप से चलाने के लिए गौरव मर्रोलिया, राधेश्याम, वीरु, राहुल, विनय, गोविन्द सिंह, सरीता देवी, डा. गरीमा मंगला,जगवीर, नेपाल सिंह, देवेन्द्र, संजीव, भीम, राजीव डागर, रुद्र नारायण ,विकल्प आदि ने विशेष सहयोग दिया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।