हरियाणा पुलिस ने कुछ ही घंटों में दो जघन्य अपराधों का किया पर्दाफाश
May 29th, 2020 | Post by :- | 76 Views

चंडीगढ, ( महिन्द्र पाल सिंहमार )    । हरियाणा पुलिस ने पिछले दो दिनों में झज्जर और सिरसा जिले में घटित दो जघन्य अपराध के मामलों का कुछ ही घंटों के भीतर पर्दाफाश किया है।

हरियाणा पुलिस के प्रवक्ता ने आज यहां जानकारी देते हुए बताया कि झज्जर जिले में पुलिस ने श्री विशाल जैन, (एक फैक्ट्री मालिक) के अपहरण मामले मे तुरंत कार्रवाई कार्रवाई करते हुए एक घंटे के भीतर पीड़ित को सकुशल बरामद किया। इस मामले मंे पुलिस ने तीन अपहरणकर्ताओं को मुठभेड के बाद काबू किया, जिन्होंने 50 लाख रुपये की फिरौती की मांग की थी।

उन्होने बताया कि थाना आसोदा एरिया में स्थित एक फैक्ट्री के डायरेक्टर विशाल निवासी दिल्ली अपनी फैक्ट्री से दिल्ली जाने के लिए निकले थे। रास्ते में उनका बदमाशों ने अपहरण कर लिया। अपहृत व्यक्ति से उसके फोन से उसकी पत्नी को फोन कराया गया कि उसका एक्सीडेंट हो गया है। आप 50 लाख रुपए लेकर आ जाओ। जिस पर संदेह होने पर अपहृत की पत्नी ने फैक्ट्री में उनके पार्टनर मनोज को जानकारी दी, जिसने बहादुरगढ़ पुलिस से संपर्क किया। शिकायत मिलने पर, पुलिस ने तेजी से कार्रवाई करते हुए साइबर सैल की मदद से लोकेशन के आधार पर मुठभेड के बाद विशाल जैन को सकुशल बरामद कर  तीन बदमाशों (सुमित, विशाल, संदीप) को काबू कर लिया।  पुलिस ने उनके पास से तीन पिस्टल भी जब्त की।

सिरसा जिले के एक अन्य मामले में, तीन आरोपियों की गिरफ्तारी के साथ, पुलिस ने जिले के गांव अलेका एरिया में 28 मई को हुई डकैती का कुछ घंटों में पर्दाफाश किया। पुलिस ने 3 लाख रुपये की लूट की रकम और अपराध में इस्तेमाल की गई बोलेरो गाड़ी भी बरामद की है।

गौरतलब है कि बीते दिवस अपनी कार में सवार होकर बलदेव सिंह पुत्र मान सिंह निवासी मानसा पंजाब सिरसा से अपनी जमीन की रजिस्ट्री करवाकर वापिस मानसा पंजाब में जा रहा था तो रास्ते में गांव अलीकां क्षेत्र में बोलेरो गाड़ी में सवार लोगों ने हथियारों की नोक पर बलदेव सिंह से 9 लाख रुपये लूटकर फरार हो गए । सूचना मिलने के तुरंत बाद, पुलिस हरकत में आई और मानवीय और तकनीकी खुफिया जानकारी का इस्तेमाल कर तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार आरोपियों की पहचान गुरजीत सिंह उर्फ गिट्टा, बसंत सिंह उर्फ वीरू और सोहन लाल के रूप में हुई। उन्होंने कहा कि इस मामले में शामिल अन्य लोगों को गिरफ्तार करने के लिए और लूटे गए धन की बरामदगी के लिए टीमें गठित की गई हैं।

इस बीच, पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) हरियाणा, श्री मनोज यादव ने बेहद कम समय में पेशेवर तरीके से मामलों को सुलझाने के लिए दोनों जिला एसपी की सराहना की। उन्होंने कहा कि ये जघन्य अपराध की शुरुआती घटनाओं में से थे, जो लॉकडाउन की ढील के बाद पेशेवर अपराधियों द्वारा किए गए थे, लेकिन पुलिस ने कुछ ही घंटों में उनका पता लगाकर उनके अंजाम तक पहुचाया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।