जिले के क्वारेंटाइन सेन्टर बने रचनात्मक गतिविधियों के केन्द्र भोजन के प्रबंध से लेकर आयुर्वेदिक उपचार, योग से श्रमिको का किया जा रहा है क्वारंटाइन
May 29th, 2020 | Post by :- | 89 Views

कोरोना संक्रमण के बढते खतरो के बीच जिले मे अन्य राज्य या जिलो से कोण्डागांव जिले मे  श्रमिको का आने का सिलसिला जारी है। इसे देखते हुए जिला प्रषासन द्वारा व्यापक प्रषासनिक तैयारियां सुनिष्चित की गई है। सभी जनपद, नगर पालिका, नगर पंचायतो क्षेत्रो मे क्वारेंटाइन सेन्टर बनाये जा चुके है। इन केन्द्रो मे भोजन स्वल्पाहार रूकने ठहरने की व्यवस्था पहले से ही की गई है। साथ ही इन केन्द्रो मे श्रमिको की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने के लिउ आयुर्वेदिक उपचार और योगाभ्यास भी कराया जा रहा है। इसके अलावा क्वारेटाइन सेन्टरो मे मनोरजंन हेतु रेडियो एंव टीवी की भी व्यवस्था भी की जायेगी। इन केन्द्रो मे क्वारेंटाइन किये गये मजदूर भी प्रषासनिक व्यवस्था से प्रसन्न है। और सभी गतिविधियों मे खुलकर भाग ले रहे है। अगर आकड़ो की बात की जाये तो जिले मे कुल 177 क्वारेंटाइन सेन्टर बनाये गये है इनमे बड़े राजपुर मे 26, केषकाल मे 36, कोण्डागांव मे 39, माकड़ी मे 36, और फरसगांव मे 31 नगरपालिका क्षेत्र कोण्डागांव मे 02, फरसगांव मे 02, केषकाल नगर पंचायत मे 05 क्वारंेटाइन सेन्टर है। इसी प्रकार बड़ेराजपुर मे दिनांक 28 मई तक 58, केषकाल मे 135, कोण्डागांव मे 212, माकड़ी मे 193, फरसगांव मे 77, नगर पालिका क्षेत्र कोण्डागांव मे 63, नगरपंचायत फरसगांव मे 93, केषकाल मे 206 इस प्रकार वर्तमान मे कुल 1037 कामगारो को क्वारेंटाइन किया गया है। प्राप्त जानकारी अनुसार अब तक 14 दिवस के बाद कुल 381 श्रमिको को क्वारेंटाइन से मुक्त भी किया गया है। जिले मे अब तक अन्य राज्य अथवा जिलो से 1418 श्रमिक जिले मे प्रवेष कर चुके है। इनमे सर्वाधिक (366) श्रमिक तेलंगाना राज्य से आये है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।