शिक्षा विभाग ने जिले के 19 प्राइमरी , 68 मिडिल , 20 सीनियर सेकेंडरी स्कूल अपग्रेड किए
May 28th, 2020 | Post by :- | 82 Views

नूंह मेवात , ( लियाकत अली )  ।  हरियाणा के नूह जिले के शिक्षा स्तर को मजबूत बनाने के लिए शिक्षा विभाग द्वारा ठोस कदम उठाए जा रहे हैं। शिक्षा विभाग ने जिले के 19 प्राइमरी , 68 मिडिल , 20 सीनियर सेकेंडरी स्कूल अपग्रेड किए हैं। जिले के जो मिडिल स्कूल अपग्रेड किये हैं,  उनमें 34 लड़के –  34 लड़कियों के स्कूल हैं। जिले में पहले 70 सीनियर सीनियर सेकेंडरी स्कूल थे , जो अब बढ़कर 97 के करीब हो गए हैं । इसके अलावा जिले में करीब 5 आरोही स्कूल , पांच कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय तथा 8 मेवात मॉडल स्कूल एमडीए द्वारा चलाए जा रहे हैं । यह जानकारी जिला शिक्षा अधिकारी सूरजभान ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान दी । जिले के शिक्षा स्तर को ऊंचा उठाने के लिए जिस तरह शिक्षा विभाग धड़ाधड़ स्कूलों को अपग्रेड कर रहा है । काश इतना ही ध्यान स्कूलों में अध्यापकों की नियुक्ति को लेकर दिया जाए , तो नूह जिला शिक्षा के क्षेत्र में किसी जिले से पीछे नहीं रहेगा । जिला शिक्षा अधिकारी सूरजभान ने कहा कि नूह जिले में सबसे ज्यादा पुनहाना खंड में सीनियर सेकेंडरी स्कूल अपग्रेड किए गए हैं । उन्होंने बताया किस जिले में अब करीब 20 हाई स्कूल हैं , जिनमें से चार को सीनियर सेकेंडरी स्कूल का दर्जा दिया गया है । अब जिले में 97 सीनियर सेकेंडरी स्कूल है । डीईओ ने कहा की अपग्रेड होने वाले स्कूलों में नैवाना , तुसेनी , रायपुर , शाहचोखा , बिसरू , लुहिंगाकलां , जमालगढ़, इंदाना , सिंगार इत्यादि स्कूल है। जिला शिक्षा अधिकारी सूरजभान ने पत्रकार से खास बातचीत के दौरान कहा कि शिक्षा विभाग ने सभी स्कूल मुखियाओं का आदेश दिए हैं कि गर्मियों की छुट्टियों में दाखिले पर जोर देना है । निजी स्कूलों के बजाय सरकारी स्कूलों में ज्यादा से ज्यादा बच्चे दाखिला लें , इस पर फोकस किया जाए। इसके बाद बरसात के सीजन को देखते हुए स्कूल भवनों की छतों पर साफ – सफाई की जाए , ताकि भवनों को बरसात से किसी प्रकार का नुकसान ना हो। वाटर हार्वेस्टिंग पर ध्यान दिया जाए। इसके अलावा जो पुरानी किताबें हैं । उनका आदान – प्रदान आपस में कराया जाए यानी जो विद्यार्थी जिन कक्षाओं को उत्तीर्ण कर चुके हैं , उनकी किताबें उनके जूनियर विद्यार्थियों को दिलवाई जाए । नई किताबें अभी नहीं आई है , इसीलिए बच्चों की पढ़ाई प्रभावित ना हो इसके लिए किताबों के आदान – प्रदान पर फोकस किया जा रहा है । जिला शिक्षा अधिकारी ने कहा कि लॉकडाउन की वजह से जो बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही थी । उसको देखते हुए घर से पढ़ो कार्यक्रम चल रहा है। इंटरनेट , केबल नेटवर्क के माध्यम से बच्चों की कक्षाएं लगाई जा रही हैं । कुल मिलाकर नूह जिले में जिस तरह तकरीबन 107 स्कूल अपग्रेड किए गए हैं । अगर शिक्षा विभाग ने समय रहते इन स्कूलों में अध्यापकों व स्टाफ की पूर्ति कर दी तो जिला शिक्षा के क्षेत्र में किसी से पीछे नहीं रहेगा । स्कूल तो धड़ाधड़ पिछले एक दशक से जिले में अपग्रेड हो रहे हैं , लेकिन अध्यापकों की नियुक्ति में कोई खास सुधार पिछले समय में देखने को नहीं मिला है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।