नई तकनीक से धान की बुआई से लेबर ,पानी और पैसे की होगी बचत :सुखरूप सिंह।
May 28th, 2020 | Post by :- | 150 Views

नई तकनीक से धान की बुआई से पानी ,लेबर ,और पैसे की होगी बचत :सुखरूप सिंह
जंडियाला गुरु कुलजीत सिंह
आज जहाँ कोविड 19 के चलते हुए लोकडौन के कारण प्रवासी मजदूर ज्यादातर अपनी घरों में लौट गए हैं ।अब वहीं पंजाब में किसानों द्वारा धान की बुआई शुरू हो रही है। पहले किसानों द्वारा धान की पनीरी लगाकर रोपाई की जाती थी ।जिससे पानी ,लेबर की ज्यादा खपत होती है ।लेकिन अब ऐसी मशीन तैयार की गई है जो कि किसानों के लिए बहुत फायदेमंद साबित हो रही है ।किसान सुखरूप सिंह निवासी गांव धारड़ ने जानकारी देते हुए बताया कि उसने यह धान सीडर मशीन 80 हज़ार रुपये कीमत की खरीदी है ।इस मशीन की खास बात यह है कि इसके द्वारा धान के बीज को गेहूं के बीज की तरह सूखे खेत मे बुआई की जाती है ।इसके बाद उन्हें पानी दे दिया जाता है जो 8 से 10 दिन के भीतर पौधा निकल आता है। प्रति एकड़ 8 से 9 किलो बीज लगता है और 1 एकड़ में की बिजाई करते करीब आधा घण्टे लगता है ।इन दिनों पानी लगे खेत धान की पनीरी द्वारा बुआई का 5000 हज़ार रुपये लेबर का खर्च आता है ।जबकि इस मशीन द्वारा केवल 1000 हज़ार रुपये खर्च होता है ।उन्होंने कहा कि यह धान सीडर मशीन किसानों की लिए आर्थिक रूप बहुत फायदेमंद साबित हो रही है ।
फ़ोटो कैप्शन सुखरूप सिंह धान सीडर के बारे में जानकारी देते हुए

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।