कोरोना के बढ़ते आंकड़ो को लेकर राज्य सरकार ने केंद्र से की मांग व रोकथाम के लिए उठाए कुछ कदम
May 27th, 2020 | Post by :- | 53 Views

जयपुर,(सुरेन्द्र कुमार सोनी) । राजस्थान में कोरोना के मरीज लगातार बढ़ रहे है। बुधवार को राजस्थान में कोरोना के 144 नए मामले सामने आए। इनमें झालावाड़ में 64, कोटा में 18, जयपुर में 15, जोधपुर में 13, नागौर में 1, भरतपुर में 8, सीकर में 7, झुंझुनू में 2, डूंगरपुर, भीलवाड़ा, बीकानेर, करौली और दौसा में 1-1 संक्रमित मिला। इसके बाद कुल संक्रमितों का आंकड़ा 7680 पहुंच गया। वहीं, जयपुर में संक्रमण से दो और लोगों की मौत भी हो गई। इसके बाद राज्य में मौतों का कुल आंकड़ा 172 पर पहुंच गया। उधर, कांग्रेस ने लॉकडाउन से प्रभावित लोगों के खातों में नकद पैसा ट्रांसफर करने की मांग तेज कर दी है। सीएम अशोक गहलोत ने ट्वीट करके राहुल गांधी की ओर से उठाए गए मुद्दों का समर्थन करते हुए केंद्र सरकार पर सवाल उठाए। गहलोत ने राहुल की लाइन लेते हुए लॉकडाउन से प्रभावित लोगों के खातों में पैसा डालने ने की मांग की। कोरोना के खिलाफ जयपुर को केंद्र ने कोरोना महामारी को नियंत्रित करने के मामले में जयपुर समेत 4 शहरों को रोल मॉडल चुना है। तीन अन्य शहर इंदौर,चेन्नई और बेंगलुरु भी शामिल हैं। कुछ दिन पहले केंद्र ने कोरोना के सर्वाधिक संक्रमित और न्यूनतम मृत्यु दर वाले शहरों के नगर निकायों के साथ बैठक की थी। इसमें पाया कि जयपुर में बढ़ते आंकड़ों को कंट्रोल किया।
चेन्नई और बेंगलुरु ने मृत्यु दर (1%) को बढ़ने नहीं दिया। जयपुर और इंदौर ने घर-घर सर्वे करवाकर और संक्रमितों का पता लगाकर कोरोना को कंट्रोल किया। जयपुर ने सुपर स्प्रेडर्स जैसे फल-सब्जी और किराना वालों को सीमित संख्या में लाइसेंस दिए ताकि फेरी वालों से घरों तक संक्रमण न पहुंचे। जयपुर के एसएमएस अस्पताल के पैथोलॉजी लैब में कार्यरत टेक्निशियन और एमआरआई सेंटर में कार्यरत टेक्निशियन पॉजिटिव आए हैं। नर्सिंग स्टाफ में तैनात एक कर्मचारी की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। जयपुर में अब तक 97 हेल्थ वॉरियर्स पॉजिटिव आ चुके हैं। इनमें 25 डॉक्टर, 40 नर्सिंगकर्मी और स्वास्थ्यकर्मी शामिल हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।