आत्महत्या को लेकर विवश करने के मामले में 2 आरोपी पुलिस गिरफ्त में,4 दिन पूर्व विवाहिता द्वारा विषाक्त सेवन कर जीवनलीला समाप्त करने वाला मामला,पति व देवरानी के बीच अवैध संबध से थी परेशान
May 26th, 2020 | Post by :- | 137 Views

झालावाड/लोकहित एक्सप्रैस/अमित अग्रवाल। झालावाड। जिले के गंगधार उपखण्ड क्षेत्र के गांव बेटीखेड़ी में 21 मई को एक विवाहिता द्वारा विषाक्त का सेवन करने से उपचार के दौरान हुई मौत के मामले में पुलिस ने दो जनो को गिरफ़्तार कर लिया है।मामले की जाँच गंगधार पुलिस उपाधीक्षक कर रहे है। गंगधार पुलिस उपाधीक्षक बृजमोहन मीना ने बताया कि ज़िला पुलिस अधीक्षक राममूर्ति जोशी के निर्देशन में मामले की गहनता से जाँच की जा रही है जिसके अन्तर्गत सोमवार को मृतका के पति कान सिंह पुत्र मान सिंह (35) व देवरानी दुर्गा बाई पत्नी ईश्वर सिंह (25) निवासी बेटीखेड़ी थाना उन्हेल नागेश्वर को डिटेन कर बाद अनुसंधान गिरफ़्तार कर लिया है।
यह था मामला– 21 मई को बेटीखेड़ी निवासी विवाहिता धापू बाई (27) द्वारा विषाक्त का सेवन कर लिया था। जिसे उपचार के लिए लेकर चौमहला सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र लाए। जिसने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया था। मृतका की मां मुन्नीबाई निवासी अनुपूरा थाना बड़ोद मध्य प्रदेश ने पर्चा बयान देते हुए बताया था कि उसकी बेटी धापू बाई पति कानसिंह निवासी बेटीखेड़ी थाना उन्हेंल जिला झालावाड़ को उसके पति व ससुर मानसिंह, देवर ईश्वर व देवरानी दुर्गा बाई आए दिन परेशान करते थे। देवरानी दुर्गाबाई से कानसिंह के नाजायज संबंध थे व इन चारों ने उसे जहर देकर मार दिया या इनसे परेशान हो कर उसने जहर खा लिया। उक्त रिपोर्ट पर के आधार पर पुलिस ने धारा 498 ए, 306, 34 में मुकदमा दर्ज किया था तथा अनुसंधान पुलिस उपाधीक्षक गंगधार कर रहे है।
पुलिस टीम में ये रहे शामिल- गंगधार पुलिस उपाधीक्षक बृजमोहन मीणा की अगुवाई में गठित पुलिस टीम में पुलिस उपाधीक्षक कार्यालय के सहायक पुलिस उप निरीक्षक सुरसिंह आँजना, कांस्टेबल व उन्हैल थाना थानाधिकार भंवर सिंह गुर्जर, सहायक पुलिस उप निरीक्षक पुरीलाल, हैड कॉन्स्टेबल नाथूलाल, कॉन्स्टेबल राकेश कुमार, सुनील कुमार, महिला कांस्टेबल सुखीदेवी आदि शामिल रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।