अहमदाबाद से घर वापस लौटे 545 हिमाचली
May 24th, 2020 | Post by :- | 133 Views

ऊना (24 मई)- गुजरात के अहमदाबाद से 547 हिमाचलियों को लेकर रेलगाड़ी दोपहर लगभग तीन बजे ऊना रेलवे स्टेशन पर पहुंची। डीसी संदीप कुमार ने बताया कि अहमदाबाद से ट्रेन में कांगड़ा जिला से 210, हमीरपुर से 74, मंडी से 82, शिमला से 40, चंबा से 37, कुल्लू से 7, किन्नौर व लाहौल स्पिति से 1-1, बिलासपुर से 23, ऊना से 47, सिरमौर 10 व सोलन से 13 यात्री वापस पहुंचे हैं।

उन्होंने बताया कि रेलगाड़ी से सभी यात्रियों को जिलावार उतारा गया। प्लेटफॉर्म से बाहर निकलने के लिए जिला प्रशासन ऊना ने दो रास्ते बनाए गए थे, ताकि यात्रियों को उतरने में किसी तरह की कोई असुविधा न हो। सबसे पहले कांगड़ा जिला के यात्रियों को प्लेटफॉर्म पर उतारने के बाद उन्हें सैनिटाइज किया गया। इसके बाद हेल्थ डेस्क पर उनकी थर्मल स्क्रीनिंग की गई और उनसे फ्लू जैसे लक्षणों के बारे में जानकारी हासिल की गई। स्टेशन से बाहर निकलने से पहले सभी यात्रियों को खाने-पीने की सामग्री तथा पानी की बोतलें व सैनिटाइजर प्रदान किए गए। इसके बाद उन्हें एचआरटीसी की बसों में बिठाकर उनके गंतव्यों की ओर रवाना किया गया। इस दौरान सभी यात्रियों ने सोशल डिस्टेंसिग के नियम का पालन किया और दिए जा रहे दिशा-निर्देशों की पालना की। बारी-बारी से सभी जिलों के यात्रियों को प्लेटफॉर्म पर उतारा गया।
राधा स्वामी सत्संग व्यास ने किया खाने का इंतजाम

उपायुक्त ने कहा कि अहमदाबाद से लौटे सभी यात्रियों व ड्यूटी पर तैनात कर्मचारियों के लिए 1100 खाने के पैकेट बनाए गए थे और खाने की व्यवस्था राधा स्वामी सत्संग घर भदसाली की ओर से की गई थी। उन्होंने बताया कि लगभग 50 वॉलंटियर्स ने खाना बनाने से लेकर पैकिंग तक का बंदोबस्त किया था, जिसके लिए जिला प्रशासन ऊना सत्संग घर का आभारी है। उन्होंने सामाजिक संस्थाओं का सहयोग के लिए विशेष तौर पर आभार व्यक्त किया।

इस दौरान एसपी कार्तिकेयन गोकुलचंद्रन, एडीसी अरिंदम चौधरी, एएसपी विनोद धीमान सहित अन्य प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहे। अहमदाबाद से शनिवार 5 बजे चली ट्रेन के ऊना पहुंचने का समय दोपहर 1.30 बजे निश्चित था, लेकिन ट्रेन के पहुंचने में विलंब हुआ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।