जंडियाला गुरु सेंटर आते के अंतर्गत गांव में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत आबंटन में गड़बड़ी नही होगी बर्दाश्त :भीरी ।
May 24th, 2020 | Post by :- | 212 Views
जंडियाला गुरु सेंटर में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत बांटी जाने वाली मुफ्त  गेहूं और दाल  आबंटन में कुताही नही होगी बर्दाश्त :भीरी ।

जंडियाला गुरु कुलजीत सिंह
इस समय पूरा देश कोविड 19 म्हांमारी से जूझ रहा है ।ऐसे हालात में सबसे ज्यादा कोविड 19 की मार गरीब लोगों पर पड़ी है ,इसके चलते उनका कामकाज लोकडौन के चलते पूरी तरह ठप्प हो गया है  ।कामकाज ठप्प होने के कारण  उनकी आर्थिक स्तिथि बहुत कमज़ोर हो गई है । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी  और केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान   द्वारा सभी राज्यों में प्रधानमंत्री गरीब  कल्याण अन्न योजना के अंतर्गत और नेशनल फ़ूड सेफ्टी एक्ट  के तहत पूरे देश मे 20 करोड़ के करीब लाभपात्रियो को आबंटन के लिए 5.88लाख टन गेहूं और 4.25 लाख टन दाल राज्यों को भेजी है ।
 इस मामले में गहरी मंडी गांव के पूर्व सरपंच मनजिंदर सिंह भीरी ने फ़ूड सप्लाई विभाग के अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत जंडियाला गुरु सेंटर के अंतर्गत आते गांव में आवंटन में कोई गड़बड़ी हुई तो वह इस मामले की शिकायत उच्च अधिकारियों के साथ साथ माननीय पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट में भी पटीशन दायर करेंगे ।
उन्होंने कहा कि इससे पहले जो पंजाब सरकार द्वारा 2 रुपये प्रति किलो वाली गेहूं का आबंटन जंडियाला गुरु सेंटर द्वारा किया गया था ।उसमें भी बड़े स्तर आबंटन में गड़बड़ी हुई है जिसकी शिकायत वह  पहले ही मुख्यमंत्री पंजाब कैप्टन अमरिंदर सिंह ,फ़ूड सप्लाई विभाग के मंत्री  आशू भूषण ,सचिव ,डायरेक्टर और विजिलेंस पंजाब को भेज चुकें है और इसकी जांच अभी जारी है ।इसके इलावा भीरी ने यह भी कहा कि अब केंद्र सरकार के दिशा निर्देश  कोई भी डिपू होल्डर या इंस्पेक्टर कार्ड में से नाम काटे जाने पर गेहूं और दाल देने से मना नही कर सकता क्योंकि केंद्र सरकार ने यह साफ बात कही है यह लाभ सभी गरीब लाभपात्रियों को मिलेगा।
फ़ोटो मनजिंदर सिंह भीरी की तसवीर ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।