निज स्वच्छता के प्रति जागरुक कर वितरित किये नि:शुल्क सैनेटरी नैपकिन|
May 24th, 2020 | Post by :- | 107 Views

हसनपुर पलवल (मुकेश वशिष्ठ) :- पलवल डोनर्स क्लब ज्योतिपुंज ने जिला रेड क्रॉस सोसायटी पलवल के सहयोग से हथीन में कोरोना वायरस  संक्रमण के चलते हुए लॉकडाउन में  आर्थिक तौर पर कमजोर बालिकाओं और महिलाओं को निशुल्क सेनेटरी नैपकिन और बिस्कुट बांटे। कार्यक्रम का संयोजन जिला रेड क्रॉस सोसायटी पलवल के आजीवन सदस्य और पलवल डोनर्स क्लब ज्योतिपुंज के मुख्य संयोजक और सह संयोजक आर्यवीर लॉयन विकास मित्तल एवं अल्पना मित्तल ने किया।

इस अवसर पर हथीन के थानाध्यक्ष सत्य नारायण ने अपनी पुलिस टीम के साथ उपस्थित होकर  नि:शुल्क सेनेटरी नैपकिन और बिस्कुट वितरण कार्यक्रम में सहयोग दिया। सत्य नारायण ने कहा कि  जरूरतमंद महिलाओं और बालिकाओं को निशुल्क सेनेटरी नेपकिन और बिस्कुट वितरित कर संस्था ने सराहनीय कार्य किया।

उन्होंने इस मुश्किल के समय में महिलाओं की जरूरत पूरी की है। उम्मीद करते हैं कि संस्था आगे भी इसी तरह से अपना योगदान करती रहेगी। विकास मित्तल ने बताया कि गत दिनों से  कोविड-19 के मद्देनजर लागू लॉकडाउन में पलवल डोनर्स क्लब ज्योतिपुंज लोगों को निज स्वच्छता के बारे में जागरुक कर जिले के विभिन्न क्षेत्रों में आर्थिक तौर पर कमजोर महिलाओं और बालिकाओं को मुफ्त सेनेटरी नेपकिन, फेस मास्क, सेनेटाइजर, दस्ताने, बिस्किट, नमकीन आदि उपलब्ध करा रहा हैं।

क्लब की सह संयोजक अल्पना मित्तल ने निज स्वच्छता और कैंसर के प्रति जागरुक करते हुए कहा मासिक धर्म के दौरान महिलाओं को सफाई का विशेष ध्यान रखना चाहिए, ताकि गंभीर बीमारियों से बचा जा सके। उन्होंने महिलाओं को सेनेटरी पैड का महत्व बताते हुए कहा कि मासिक धर्म के दौरान पैड का उपयोग अवश्य किया जाना चाहिए। इसे नजरंदाज करना खतरनाक साबित हो सकता है।

उन्होंने बताया कि संस्था के द्धारा अब तक में लाॅकडाउन के नियमों का उल्लंघन किये बिना अब तक लगभग 4000 सैनेटरी पैड वितरित किये जा चुके हैं। इस अवसर पर सरिता, गोविन्द राम,मीना, नेपाल सिंह, रविन्द्र, नरेन्द्र, विकल्प, रुद्र आदि ने अपना सहयोग दिया।

                                  

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।