गौरक्षा दल के सदस्यों ने दो वाहनों से बरामद की 20 गाय|
May 23rd, 2020 | Post by :- | 69 Views

एक गौतस्कर मौके पर काबू किया बाकि अधेरे का फायदा उठाकर फरार

हसनपुर पलवल (मुकेश वशिष्ठ) :-  हरियाणा व उत्तरप्रदेश में कोरोना वायरस महामारी को लेकर सभी सीमाएं सील होने के बावजूद भी गौतस्करी की घटनाएं थमने का नाम नहीं ले रही है। या तो गौतस्कर दोनों राज्यों की सीमाओं में लगने वाले नाकों पर तैनात पुलिस कर्मियों को गच्चा देने में सफल हो रहे हैं या फिर पुलिसकर्मियों की मदद से ही इन गौतस्करी को घटनाओं को बढावा दिया जा रहा है। शनिवार सुबह भी होडल गौरक्षा दल के सदस्यों ने दो अलग-अलग वाहनों से बीस गायों को गौतस्करों के चूंगल से मुक्त कराया है जिनमें से तीन गाय मृत मिली हैं। दल के सदस्यों ने यहां एक गौतस्करों को भी पकडक़र पुलिस को सौंप दिया है। पुलिस ने दल के सदस्यों की शिकायत पर गौतस्करों के खिलाफ मामला दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है। पुलिस ने गायों को पास की गौशाला में छोडकर वाहनों को अपने कब्जे में ले लिया है।

होडल गौरक्षा दल के अध्यक्ष भगत सिंह रावत ने जानकारी में बताया कि उन्हें पहली सूचना मिली कि हसनपुर की ओर से एक ईको गाडी गायों को भरकर मेवात की ओर जा रही है। सूचना मिलते ही दल के सदस्य हरेंद्र सौरोत, सुखदेव, ललित, देवीलाल, विष्णु, महेश, पुरषोत्तम, राकेश आदि हसनपुर चौक पर ईको गाडी कह इंतजार में खडे हो गए। जैसे ही इको गाडी पहुंची वैसे ही दल के सदस्यों ने गाडी का पीछा करना शुरू कर दिया। दल के सदस्यों को पीछा लगा देख गाडी सवार तस्कर गाडी को बावरी मोड पर छोडकर अधेरे का फायदा उठाकर भागने में सफल हो गए।

दल के सदस्यों ने जब गाडी की तलाशी ली तो उन्होने उसमें से तीन गाय बरामद की वहीं दूसरी सूचना दल के अध्यक्ष को यूपी से मेवात की ओर एक कन्टेनर में गाय जाने की मिली। दल के सदस्यों ने करमन बॉर्डर पर नाका लगाकर कन्टेनर को घेर लिया। गाडी को घिरता देख गौतस्कर गाडी छोडकर भागने लगे, लेकिन दल के सदस्यों ने एक तस्कर को मौके पर ही काबू कर लिया। दल के सदस्यों ने जब गाडी की तलाशी ली तो उसमें 17 गाय भरी हुई थी जिनमें से तीन गाय मृत अवस्था में थी। दल के सदस्यों ने दोनों गाडियों व गौतस्कर को पुलिस को सौंप दिया।

पुलिस ने वाहनों में सवार गायों को बहीन व खाम्बी की गौशाला में छोड दिया और दल के सदस्यों की शिकायत पर मामला दर्ज कर वाहनों को जप्त कर लिया है। पुलिस मामले लिप्त अन्य तस्करों की तलाश में जुट गई है। गौरक्षा दल के अध्यक्ष भगत सिंह रावत का कहना है कि दोनों राज्यों में पुलिस की चाक चौबंद होने के बावजूद भी गौतस्करों के हौसले बुलंद हैं। पुलिस की ढुलमुल कार्यशैली के चलते ही गौतस्करी की वारदातें दिन-प्रतिदिन बढती जा रही है। उन्होंने पुलिस से मांग की है कि क्षेत्र में पुलिस गस्त के साथ-साथ अन्य पुलिस बल भी तैनात किया जाए जिससे की गौतस्करी की घटनाओं पर अंकुल लग सके।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।