हरियाणा भा ज पा प्रदेश अध्यक्ष पद के लिये सरगर्मी तेज
May 23rd, 2020 | Post by :- | 27 Views

सिवानी(सतीश खतरी)                          भाजपा में प्रदेश अध्यक्ष के लिए दौड़ शुरू हो गई है। लॉक डाउन का चौथा चरण खत्म होने के साथ ही भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष पद की चयन प्रक्रिया जोर पकड़ सकती है। हाल फिलहाल सभी दावेदार संगठन के यह पद हासिल करने की जोड़-तोड़ में लगे हैं, और सभी नेता अपनी अपनी तैयारी कर रहे हैं।

हरियाणा में प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी के लिए दौड़धूप में जुटे नेता लगातार संगठन से टच में हैं। हरियाणा बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष की दौड़ में सबसे मजबूत फिलहाल मौजूदा अध्यक्ष सुभाष बराला ही माने जा रहे हैं। मुख्यमंत्री मनोहर लाल की कोशिश है कि सुभाष बराला को ही दोबारा जिम्मेदारी सौंपी जाए, लेकिन टोहाना में उनकी हार इसमें बड़ी बाधा बन सकती है। सुभाष बराला को यदि दोबारा अध्यक्ष नहीं बनाया जाता है तो हिसार के विधायक डॉ कमल गुप्ता का प्रदेश अध्यक्ष बनना लगभग तय है। उन्हें संघ से जुड़ा होने का पूरा लाभ मिल सकता है।

हालांकि मुख्यमंत्री मनोहर लाल कुरुक्षेत्र के सांसद नायब सिंह सैनी और करनाल के सांसद संजय भाटिया का नाम भी आगे लेकर चल रहे हैं। संजय भाटिया पहले से ही संगठन में सक्रिय हैं और साथ ही पंजाबी है। नायब सैनी पिछड़ा वर्ग से संबंध रखते हैं और सीएम मनोहर के साथ खास हैं। भाजपा के प्रदेश प्रभारी डॉ अनिल जैन भी विधायकों से चुपके चुपके फीडबैक ले रहे हैं।

आपको बता दें कि इसी दौरान भाजपा केअध्यक्ष जेपी नड्डा की टीम का भी गठन होना है। जेपी नड्डा की टीम में शामिल होने के लिए भी हरियाणा के कई दिग्गज प्रयासरत बताए जा रहे हैं। बीजेपी के अध्यक्ष जेपी नड्डा की टीम में शामिल होने के प्रबल दावेदार में पूर्व मंत्री कैप्टन अभिमन्यु, पूर्व मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ तथा पूर्व केंद्रीय मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह का नाम प्रमुखता से लिया जा रहा है। तीनों को संगठन और सरकार का अच्छा अनुभव है।

भाजपा नेत्री सुधा यादव को पिछड़ा वर्ग आयोग का सदस्य बनाकर संगठन ने उनकी एंट्री को लगभग बंद कर दिया है। बता दें कि कैप्टन अभिमन्यु और ओमप्रकाश धनकड़ राज्यसभा सदस्य पदों के लिए मजबूत दावेदार थे, लेकिन पार्टी ने पिछड़ा वर्ग के रामचंद्र जागड़ा और अनुसूचित जाति के दुष्यंत गौतम पर दांव खेला। राज्यसभा चुनाव के बाद हरियाणा में नए प्रदेश अध्यक्ष के पद की चुनाव प्रक्रिया लगभग पूरी कर ली गई थी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।