ईद के मोके पर भी बाजारों से रौनक गायब ,मुसलमानों का सबसे बड़ा त्यौहार ईद उल फितर मनाया जाएगा
May 20th, 2020 | Post by :- | 44 Views

नूंह मेवात , ( लियाकत अली )  । रमजान का पवित्र महीना चार – पांच दिन बाद अलविदा कहने जा रहा है । उसके बाद मुसलमानों का सबसे बड़ा त्यौहार ईद उल फितर मनाया जाएगा। नूह जिला हरियाणा का मुस्लिम बहुल जिला है ।इस जिले में रमजान के पवित्र महीने के अलावा ईद से कुछ दिन पहले बाजारों में देखने लायक रौनक होती है। बाजारों में इतने खरीदार होते हैं कि पैर रखने के लिए जगह तक नहीं मिलती , लेकिन इस बार लॉकडाउन के चलते बाजारों से रौनक पूरी तरह गायब है । कोरोना के चलते लोग आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं । दूसरा भीड़भाड़ में जाने से बीमारी फैलने का खतरा भी लगातार बना हुआ है । यही कारण है कि बाजारों में भीड़भाड़ बहुत ही कम दिखाई दे रही है। इस बार लोग भी गत वर्षो की तरह खरीदारी के लिए कम ही घरों से बाहर निकल रहे हैं , बल्कि खरीदारी के बजाय गरीबों की मदद दिल खोलकर करने में लगे हुए हैं ।बाजारों से लेकर घरों तक सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखा जा रहा है । इस बार ईद की नमाज पर भी कोरोना महामारी का असर देखने को मिलेगा । ईदगाह व मस्जिदों में नमाज अदा नहीं होगी । इसीलिए लोग अपने घरों में इस पवित्र पर्व पर नमाज अदा करेंगे ।कुल मिलाकर कोरोना संक्रमण की वजह से इस बार ईद पर वह खुशियां दिखाई नहीं देंगी। इससे न केवल दुकानदार परेशान हैं बल्कि मुस्लिम समाज के लोग भी इतने खुश दिखाई नहीं दे रहे ।जितना विगत वर्षों में देखने को मिला है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।