करहेड़ी गांव में भिड़े ग्रामीण , एसडीएम की मौजूदगी में जमकर मचाया उत्पात
May 20th, 2020 | Post by :- | 61 Views

नूंह मेवात , ( लियाकत अली )  ।सोमवार को करहेड़ी गांव में सरकारी राशन डिपो धारक के खिलाफ ग्रामीणों द्वारा राशन वितरण में गड़बड़ी की शिकायत पर जांच करने एसडीएम फिरोजपुर झिरका पहुंचे तो उनकी मौजूदगी में वहां सैकड़ों लोग जमा हो गए। ग्रामीणों में जांच के दौरान विवाद इतना बढ़ा कि एक – दूसरे पर टूट पड़े । चारों तरफ लात – घूसे , मारपीट की आवाज सुनाई देने लगी। करहेड़ी गांव में भीड़ ने आपस में एक – दूसरे पर पथराव किया । इस झगड़े में पुरुष तो दूर महिलाएं भी भीड़ के बीच में दिखाई दी । हरियाणा पुलिस के जवान ग्रामीणों को झगड़े के दौरान बचाते हुए नजर आ रहे हैं , लेकिन एसडीएम फिरोजपुर झिरका प्रदीप कुमार के गनर अकेले पड़ गए । काफी देर तक करहेड़ी गांव के लोग एक – दूसरे से उलझते रहे। आखिरकार एसडीएम फिरोजपुर झिरका को गांव में नगीना पुलिस बुलानी पड़ी । तब कहीं जाकर मामला शांत हो पाया । दरअसल करहेेेड़ी गांव के तकरीबन 31 लोगों ने शिकायत लगाई थी कि गांव का डिपो होल्डर उन्हें राशन नहीं देता । इसी मामले की जांच करने के लिए एसडीएम प्रदीप कुमार सोमवार को गांव में पहुंच गए । दोनों पक्षों के लोगों को बुलाया गया , उसी दौरान गांव के सरकारी स्कूल का मैदान मानो किसी जंग का मैदान बन गया हो । नौबत यहां तक आ गई कि एसडीएम फिरोजपुर झिरका को भी बड़ी चतुराई के साथ वहां से निकलना पड़ा । जब इस बारे में खाद्य एवं पूर्ति नियंत्रक सीमा शर्मा से बात की गई तो उन्होंने कहा कि उनके संज्ञान में यह मामला आया है ।अभी एसडीएम फिरोजपुर झिरका प्रदीप कुमार ने अपनी जांच रिपोर्ट नहीं दी है । जैसे ही उनकी जांच रिपोर्ट आएगी । मामले में अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी ।खबर मिल रही है कि भले ही गांव के दो गुट राशन वितरण में गड़बड़ी को लेकर आपस में उलझ गए और खूब लात – घूंसे चले , लेकिन पुलिस में दोनों गुटों में से किसी ने भी शिकायत नहीं की है। हालांकि झगड़े के दौरान गांव के कई लोगों को मामूली चोटें आने की खबर भी मिल रही है । यह वीडियो आजकल सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है । मामले में जिला प्रशासन से लेकर चंडीगढ़ में बैठे आला अधिकारी भी पूरी तरह गंभीर हैं। अब देखना यह है कि एसडीएम फिरोजपुर झिरका की जांच रिपोर्ट का इंतजार है। लेकिन एसडीएम ने बताया कि अब ग्रामीणों को अगली बार जांच के लिए फिरोजपुर झिरका लघु सचिवालय परिसर में बुलाया जाएगा । गांव में झगड़े की सूरत को देखते हुए प्रशासन ने यह फैसला लिया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।