सैकेण्डरी व सीनियर सैकेण्डरी वार्षिक परीक्षा आन्तरिक मूल्यांकन व बाह्य परीक्षा के अंक ऑनलाईन से सम्बन्धित विद्यालयों को जुर्माना राशि भरने बारे
May 19th, 2020 | Post by :- | 924 Views

कुरुक्षेत्र, लोकहित एक्सप्रेस, (सैनी)। हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड भिवानी द्वारा आयोजित करवाई गई वार्षिक परीक्षा मार्च-2019 में जिन निजी विद्यालयों के अध्यापकों/प्राध्यापकों की डयूटी पर्यवेक्षक के रूप में बोर्ड कार्यालय द्वारा लगाई गई थी तथा उनमें से अनुपस्थित रहे पर्यवेक्षकों के सम्बन्धित विद्यालयों द्वारा 5000/-रूपये जुर्माना राशि के रूप में जमा करवाये जाने थे।

इस आशय की जानकारी देते हुए बोर्ड अध्यक्ष डॉ० जगबीर सिंह एवं सचिव श्री राजीव प्रसाद, ह०प्र०से०.द्वारा संयुक्त रूप से बताया कि सैकेण्डरी एवं सीनियर सैकेण्डरी परीक्षा मार्च-2019 में जिन निजी विद्यालयों द्वारा अनुपस्थित रहे पर्यवेक्षकों के सम्बन्ध में 5000/-रूपये जुर्माना राशि बोर्ड कार्यालय में जमा करवाई जानी थी, परन्तु कुछ विद्यालयों द्वारा यह जुर्माना राशि नहीं भरी गई थी, ऐसे विद्यालयों के वार्षिक परीक्षा मार्च-2020 के अनुक्रमांक समयाभाव व परीक्षार्थी के हित को देखते हुए जारी कर दिए गए थे।

उन्होंने आगे बताया कि जिन निजी विद्यालयों द्वारा 5000/-रूपये जुर्माना राशि नहीं भरी गई थी ऐसे विद्यालयों को जुर्माना राशि 5000/-रूपये ऑनलाईन भरने हेतु 20 मई से 25 मई, 2020 तक का समय दिया जा रहा है। वे बोर्ड वैबसाईट www.bseh.org.in पर दिए गए पोर्टल पर जुर्माना राशि भर सकते हैं। सम्बन्धित विद्यालयों को एस०एम०एस० के माध्यम से भी सूचित कर दिया गया है तथा ऐसे विद्यालयों की सूची बोर्ड वैबसाईट पर भी उपलब्ध है।

इसके अतिरिक्त उन द्वारा यह भी बताया गया कि सैकेण्डरी व सीनियर सैकेण्डरी वार्षिक परीक्षा मार्च-2020 के लिए जिन सरकारी एवं गैर सरकारी विद्यालयों द्वारा आन्तरिक मूल्यांकन (INA)/आन्तरिक एवं बाह्य प्रायोगिक परीक्षा के अंक ऑनलाईन निर्धारित समय तक नहीं भरे थे ऐसे विद्यालयों से भी जुर्माना राशि 20 मई से 25 मई, 2020 तक ली जायेगी। सैकेण्डरी व सीनियर सैकेण्डरी दोनों परीक्षाओं हेतु जुर्माना अलग-अलग लिया जायेगा। जुर्माना से सम्बन्धित राशि की सूची बोर्ड वैबसाईट पर भी उपलब्ध है।

उन्होंने बताया कि जिन विद्यालयों द्वारा निर्धारित समय तक जुर्माना नहीं भरा जायेगा उनका वार्षिक परीक्षा मार्च-2020 का परिणाम रोक लिया जाएगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।