राशन न मिलने पर एपीएल राशन कार्ड धारकों ने किया हंगामा
May 18th, 2020 | Post by :- | 96 Views

सरपँच ने कहा गैर जरूरतमंद लोगों को बांटा जा रहा है राशन

रायपुर रानी, लोकहित एक्सप्रैस (अंकित)

सरकार के आदेशानुसार एपीएल राशन कार्ड धारक जरूरतमंद लोगों को राशन दिया जाना था। जिसको लेकर अलग से कमेटी बनाकर सर्वे किया गया और लिस्ट बनाकर खाद्य आपूर्ति विभाग को दी गयी व लिस्ट के हिसाब से लोगो को राशन वितरण किया गया है। राशन न मिलने को लेकर खण्ड के गाँव गढ़ी कोटाहा के 50-60 लोगो ने महिलाओं सहित मार्किट कमेटी कार्यालय के बाहर हंगामा किया और सर्वे रिपोर्ट को ठीक करने बारे कहा। गढ़ी कोटाहा वासी सरपँच महिंद्र, गुरमेल, महिंद्र सैनी, अनिरुद्ध सैनी, राजकुमार, श्यामलाल, सन्त, नीतू, हरमन, शालू, ऋतु, संजीदा, संतोष, रानी, महिन्द्रों, राममूर्ति व अन्य ने आरोप लगाया कि प्रशासन द्वारा जो राशन के लिये टोकन दिए जा रहे है वो गलत है। जरूरतमंद लोगो को राशन नही दिया जा रहा बल्कि ऐसे लोगो को राशन दिया जा रहा है जिन्होंने लाखो रुपये की फसल मंडी में बेची है। सरपँच महिंद्र सिंह ने बतायाकि उनके गाँव मे कुल 53 टोकन बांटे गये है जिनमे सिर्फ 5 -7 परिवार ही ऐसे होंगे जो जरूरतमंद है बाकि किसी जरूरतमंद को राशन नही दिया गया। ग्रामीणों ने अपनी समस्या पूर्व विधायक लतिका शर्मा को भी बताई जिसके बाद पूर्व विधायक के पति व वरिष्ट भाजपा नेता सुभाष शर्मा अनाज मंडी स्थित खाद्य आपूर्ति कार्यालय पहुंचे और ग्रामीणों की समस्या अधिकारियों के सामने रखी। सुभाष शर्मा ने ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि वे उनकी आवाज को जिला प्रशासन के उच्चाधिकारियों तक उठायेंगे और सभी जरूरतमंदों को राशन दिलवाया जायेगा। खाद्य आपूर्ति इंस्पेक्टर देवेंद्र कुमार ने बतायाकि प्रशासन द्वारा मास्टरों और ग्राम पंचायत सदस्यों की टीम बनाकर सर्वे करवाया गया था। जो लिस्ट सर्वे टीम ने विभाग में जमा करवाई उन्हें ही टोकन दिया गया है और राशन सामग्री का वितरण भी सर्वे करने वाली टीम के द्वारा ही किया गया है। खाद्य आपूर्ति विभाग ने सही तरीके से काम किया है। लोगो की जो समस्या है उसके बारे उच्चाधिकारियों से जैसे आदेश होंगे उनका पालन किया जायेगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।