पलवल में जरूरतमंदों की मदद के लिए निरंतर जल रहा सहयोग का सांझा चूल्हा|
May 18th, 2020 | Post by :- | 140 Views

पलवल में जिला प्रशासन के प्रबंधन में स्वयंसेवी संस्थाओं के सहयोग से अब तक 18627 सूखे राशन व 438595 तैयार भोजन के पैकेट हुए वितरित|

जिला में 11003 जरूरतमंद परिवारों के 38527 सदस्यों को मिलेगी डिस्ट्रेस राशन टोकन से मदद|

मुकेश वशिष्ट (हसनपुर पलवल) :-  कोविड-19 वैश्विक महामारी से बचाव के लिए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंद परिवारों के लिए दो जून की रोटी का इंतजाम करना मुश्किल हो रहा था लेकिन पलवल जिला की स्वयंसेवी संस्थाओं के सहयोग व जिला प्रशासन के कुशल प्रबंधन से आपदा की इस घड़ी में जरूरतमंदों को समय पर भोजन व राशन की व्यवस्था निरंतर जारी रही है। जिला के जरूरतमंद परिवारों के साथ-साथ सडक़ पर चलने वाले प्रवासी श्रमिक हो या शेल्टर होम में आसरा लेने वालों के लिए पलवल जिला में सहयोग का सांझा चूल्हा कभी बंद नहीं हुआ।
अंतिम व्यक्ति तक मदद पहुंचाने का संकल्प ऐसे हुआ सिद्ध
उपायुक्त नरेश नरवाल ने कहा कि जनता कफ्र्यू से अगले ही दिन लॉकडाउन की घोषणा हो गई थी। हरियाणा सरकार का पहले ही दिन से प्रयास रहा कि कोई भी व्यक्ति आपदा के समय भूखा न सोए। पलवल जिला प्रशासन ने इसी ध्येय पर चलते हुए जरूरतमंदों की जरूरतों को पूरा करने का संकल्प लिया। पलवल जिला में बड़ी संख्या में स्वयंसेवी संस्थाओं व व्यक्तिगत तौर पर जिला प्रशासन के इस संकल्प को सिद्घ करने में अपना सहयोग दिया। जिसके चलते अंतिम व्यक्ति तक मदद पहुंचने का सिलसिला पलवल जिला में निरंतर जारी है।
सभी संस्थाओं को एक मंच से जोडक़र पहुंचाई जरूरतमंदों तक मदद
उन्होंने बताया कि लॉकडाउन में जरूरतमंदों की मदद के लिए जिला प्रशासन के प्रबंधन में पहले सभी संस्थाओं को एक प्लेटफार्म पर जोड़ा गया। इसके उपरांत स्वयंसेवी संगठनों के प्रतिनिधियों, प्रशासनिक अधिकारियों व कर्मचारियों की वार्ड कमेटी का गठन किया गया ताकि हर जरूरतमंद तक समय पर मदद पहुंच सके। जिला प्रशासन के विशेष कंट्रोल रूम नंबर 1950 पर सूचना मिलते ही पात्र जरूरतमंद तक तुरंत मदद भी पहुंच रही है। साथ ही डिस्ट्रेस राशन टोकन के माध्यम से भी जरूरतमंदों को सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत नि:शुल्क राशन उपलब्ध कराया जा रहा है।
सूखे राशन से लेकर तैयार भोजन के वितरण का कार्य निरंतर जारी
राशन वितरण कार्य के नोडल अधिकारी एवं सीटीएम जितेंद्र कुमार बताया कि पलवल जिला में अब तक सूखे राशन के 18627 तथा तैयार भोजन के चार लाख 38 हजार 594 पैकेट वितरित किए जा चुके हैं। पलवल जिला में डिस्ट्रेस राशन टोकन के लिए 11003 परिवारों की पहचान की गई और डिपोवार मैपिंग करते हुए पहले चरण में 2416 परिवारों को टोकन जारी करते हुए राशन भी एलोकेट किया। डिस्ट्रेस राशन टोकन कार्यक्रम के तहत पलवल जिला में 11003 परिवारों के 38527 सदस्यों को नि:शुल्क राशन मुहैया होगा। उल्लेखनीय है कि प्रतिदिन प्रशासकीय कार्यों के अतिरिक्त सीटीएम निरंतर राशन वितरण कार्य की मॉनीटरिंग कर रहे हैं साथ ही स्वयं भी एक स्वयंसेवक के तौर पर भी जरूरतमंदों को मदद में अपना योगदान दे रहे हैं।
स्वयंसेवी संस्थाओं के साथ व्यक्तिगत तौर पर बढ़ी भागीदारी
सीटीएम ने बताया कि पलवल जिला में स्वयंसेवी संस्थाओं के साथ-साथ बड़ी संख्या में लोगों ने व्यक्तिगत तौर पर जरूरतमंदों को भोजन, दवा व जरूरत का अन्य उपयोगी सामान मुहैया कराया। वहीं करूणामई, भारत विकास परिषद, रोटरी क्लब पलवल संस्कार, क्लीन एंड स्मार्ट सिटी, राधा स्वामी सत्संग ब्यास, शिव विहार सेवा समिति, वैश्य अग्रवाल सभा, अलायंस क्लब, गुरूद्वारा सिंह सभा संस्था, ग्यारह तारीख वाले, किरण सर्व परमार्थ ट्रस्ट, राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ, लार्ड बुद्घा सोसायटी, सर्व कल्याण सेवा समिति, सेवा समिति आदि संस्थाओं से जुड़े स्वयंसेवियों ने दिन-रात मदद का पुनीत अभियान जारी रखा।
पलवल जिला में अब तक जरूरतमंदों को दी जा चुकी मदद
सूखा राशन                फूड पैक                     डिस्ट्रेस राशन टोकन
18627                      438594                            2416

 

 

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।