नशे के सौदागरों पर हरियाणा पुलिस का प्रहार लगातार जारी 256 किलो गांजा पत्ती सहित 3 आरोपी रोहतक से काबू
May 18th, 2020 | Post by :- | 177 Views

चंडीगढ, ( महिन्द्र पाल सिंहमार )    ।     हरियाणा पुलिस ने नशीले पदार्थ का अवैध धंधा करने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए जिला रोहतक से तरबूज और अनानास से लदे ट्रक में छिपाकर लाई जा रही 256 किलो 90 ग्राम गांजा पत्ती बरामद की है। पुलिस ने इस सिलसिले में दो वाहनों को जब्त कर तीन आरोपियों को भी गिरफ्तार किया है।

हरियाणा पुलिस के प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि गिरफ्तार आरोपियों की पहचान जिला वैसावी (असम) निवासी अरुण, दरुआ (चंडीगढ़) निवासी जितेन्द्र और गांव बनियानी निवासी सुनील के रूप में हुई है।

प्रारंभिक जांच में खुलासा हुआ कि जब्त की गई गांजा पत्ती असम से लाकर रोहतक सहित पानीपत और जींद एरिया में सप्लाई की जानी थी। ट्रक में तरबूज और अनानास को बरामद नशीला पदार्थ छिपाने के लिए लोड किया गया था।

एक गुप्त सूचना पर काम करते हुए, जब अपराध जांच एजेंसी और साइबर सेल की एक संयुक्त टीम छापेमारी करते हुए बनियानी के बस स्टैंड पर पहुंची, तो ट्रक और ईक्को गाडी खडी मिली तथा कुछ युवक ट्रक से प्लास्टिक के बैग उतारते हुए मिले। पुलिस टीम ने मौके से तीन आरोपियों को दबोच लिया जबकि कुछ अन्य भागने में कामयाब हो गए। जब तलाशी ली गई तो पुलिस टीम को ट्रक, ईक्को गाडी व आरोपियांे से कुल 12 पैकेट में 256 किलो 90 ग्राम गांजा पत्ती बरामद हुई। अन्य सभी आरोपियों की पहचान कर ली गई है जिन्हे बहुत जल्द गिरफतार कर सलाखों के पीछे भेज दिया जाएगा।

एनडीपीएस अधिनियम के प्रावधानों के तहत मामला दर्ज कर अभियुक्तों को अदालत के समक्ष पेश किया जहां से उन्हें 7 दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया। मादर्क पदार्थ तस्करी में शामिल अन्य की गिरफतारी के लिए आगे की जांच जारी है।

अवैध हथियारों सहित ईनामी बदमाश व साथी गिरफ्तार

                   एक अन्य घटना में, सीआईए की टीम ने अपराध पर लगाम लगाते हुए जिला नूंह से मुठभेड के बाद एक ईनामी बदमाश और उसके साथी को काबू करने में सफलता हासिल की है। दोनों को गुप्त सूचना के आधार पर घासेडा नहर पटडी के पास एक मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया गया जब उनमें से एक ने पुलिस टीम पर गोलियां चलाईं और भागने की कोशिश की। पुलिस ने आरोपियों के कब्जे से दो देसी कट्टे, एक जिंदा कारतूस और दो खाली खोल भी बरामद किए हैं।
                  पकड़े गए आरोपियों की पहचान शौकत (ईनामी बदमाष) और उसके सहयोगी राहुल, निवासी गांव शिकारपुर, पुलिस स्टेशन तावडू के रूप में हुई है।
                 आरोपी शौकत के खिलाफ दिल्ली, राजस्थान, महाराष्ट्र और उत्तराखंड सहित अन्य राज्यों मेंएटीएम लूट के कई मामले दर्ज हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।