लॉक डाउन 4 में प्रशासन द्वारा निर्धारित रोस्टर के अनुसार खुलेगी दुकाने : किरण
May 18th, 2020 | Post by :- | 106 Views
कुरुक्षेत्र, ( सुरेशपाल सिंहमार )    ।      शाहबाद मारकंडा की एसडीएम डॉ. किरण सिंह ने कहा कि लॉकडाउन-4 में नगर की दुकानें चिन्हित बाएं दाएं के अनुसार नहीं बल्कि निर्धारित दिनों के हिसाब से खोली जाएंगी। इसके लिए प्रशासन द्वारा नया रोस्टर जारी किया गया है।
वे सोमवार को एसडीएम कार्यालय में प्रेस वार्ता के दौरान पत्रकारों को संबोधित कर रही थी। उन्होंने कहा कि प्रशासन द्वारा बनाई गई समय सारणी के अनुसार दूध, डेयरी उत्पाद, मिठाईयों की दुकान, टी-स्नैक्स स्टाल, सब्जी-फल, दवाईयों की दुकान, मेडिकल स्टोर, करियाना स्टोर, हरे ओर सुखे उत्पाद, बेकरी, कान्फेक्शरी, पेस्टीसाईड, बीज, फर्टीलाईजर, कृषि उत्पाद, बुक स्टाल, स्टेशनरी, फोटो स्टेट/फार्म, वीटा बूथ, ड्राई क्लीनर की दुकाने रोजाना सुबह 7 बजे से लेकर सायं 5 बजे तक खुली रहेंगी। इसके अलावा घर-घर दूध की सप्लाई करने वाले दूध विक्रेता और वीटा बूथ सुबह 7 बजे से सुबह 9 बजे तक और सायं 5 बजे से सायं 6 बजकर 30 मिनट तक भी दुध की सप्लाई कर सकेंगे, वीटा के बूथ सुबह 7 बजे से लेकर सायं 6 बजकर 30 मिनट तक खुले रहेंगे।
उन्होंने कहा कि सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को शाहबाद नगर में जरनल स्टोर, जुते-चप्पल की दुकाने, कपड़े की दुकाने, रेडीमेड गारमेंटस, हैंडलूम्स, गिफ्ट/खिलौने, क्रॉकरी, बर्तन, ज्वैलरी, ऑप्टिकल, घडियों, टेंट हाउस, बार्बर व सैलून की 3 दिन सोमवार, बुधवार व शुक्रवार को सुसबह 7 बजे से सायं 5 बजे तक खुलेंग£ी, बाकी दिनों में यह दुकाने पूर्णत: बंद रहेंगी। बार्बर व सैलून रविवार को भी खुले रहेंगे। उन्होंने कहा कि मंगलवार, वीरवार व शनिवार को आयरन स्टोर, हार्डवेयर स्टोर, प्रिंटिंग प्रेस, सेनेटरी स्टोर, शटरिंग मैटिरियल, बिल्डिंग निर्माण सामग्री, स्टोन/टाईल्स, इलेक्ट्रिक व इलेक्ट्रोनिक गुडस, मोबाईल/आईटी/कम्पयूटर सेल एंड सर्विस स्पेयर, फर्नीचर (लकड़ी व प्लास्टिक), टाल, आटोमोबाईल, आटो स्पेयर पार्टस, टायर-टयूब की दुकाने खुलेंगी। सप्ताह के बाकी दिन यह दुकाने बंद रहेंगी। इसके अलावा दूध-डायरी व मेडिकल स्टोर रविवार को भी खुले रहेंगे। उन्होंने सभी आमजन और दुकानदारों से अपील की है कि सभी इस निर्धारित समय सारणी के अनुसार सहयोग करें।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।