लॉकडाउन में डूबे कारोबार को उभारने के लिए बिल माफ और ब्याज रहित राहत दे सरकार : प्रदीप चौधरी
May 16th, 2020 | Post by :- | 122 Views

कालका (हरपाल सिंह) ।

विधायक प्रदीप चौधरी ने गठबंधन सरकार से व्यापारी-दुकानदार और कारोबारी और आम जनता पर राहत पैकेट बेअसर है। लॉकडाउन के चलते आर्थिक रूप से इन तमाम वर्गो की कमर टूट चुकी है। ऐसी हालत में राहत पैकेज से बड़ी उम्मीद थी कि कोई राहत मिलेगी। परंतु ऐसा नही हो सका। विधायक ने कहा कि जिस प्रकार के राहत के दावे किए गए है। उनमें राहत वाली बात नही है। यदि ब्याज रहित लोन होता तो फिर भी थोड़ी राहत हो सकती थी। कारोबार पूरी तरह से चौपट हो चुका है, जिसे पुन: खड़ा करने के लिए जमीनी स्तर पर कारोबारियों, दुकानदारों और व्यापारियों की हालत देखनी होगी, तब उनकी राय और सुझावों के आधार पर राहत दी जानी चाहिए थी। दुकानें खोलने को लेकर ग्राहक बड़ी असमंजस में रहता है और उसे यह नही पता होता है कि कौन-कौन सी दुकानें खुली है। विधायक प्रदीप चौधरी ने पीने के पानी की समस्या का मुद्दा रखते हुए कहा कि आज कालका विधानसभा क्षेत्र में कई जगहों पर पीने के पानी की समस्या पैदा हो रही है और कई स्थानों पर तो पेयजल नलकूप की मोटरें खराब हो जाती है, जो कई-कई दिन ठीक नही होती। इसलिए पब्लिक हैल्थ डिपार्टमैंट को चाहिए कि वो मोटरें रिजर्ब रखें और कालका-पिंजौर में पीने के पानी की सप्लाई को बढ़ाएं और जहां-जहां पीने के पानी की समस्या पेश आ रही है। उन्हें शीघ्र हल करना चाहिए। इसके साथ ही बिजली के बिल भी माफ होने चाहिए। क्योंकि कारोबार बंद पड़े है और जहां लोगों को बिना काम के किराया देना पड़ रहा है, वहीं उन्हें स्टॉफ की सैलरी और बिजली-पानी का बिल चुकाना पड़ रहा है, जो बिना काम धंधे के चुकाना बड़ा मुश्किल है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।