फेसबुक की आईडी हैक कर तथा फर्जी आईडी बना कर नामी लोगों के नाम पर मांगे जा रहे हैं पैसे|
May 14th, 2020 | Post by :- | 282 Views

मुकेश कुमार (हसनपुर पलवल) :- सावधान आपकी कहीं फेसबुक की आईडी तो हैक नहीं हो गई है और मेसेंजर के जरिए आपके नाम से एमरजेंसी का हवाला देकर पे फ़ोन पर पैसे तो नहीं मांगें जा रहे हैं। यही ख़बरें आजकल पलवल में सुखियाँ बन रही हैं और जिसका कई लोग शिकार भी हो गए हैं। ऐसा ही एक मामला श्री वैश्य अग्रवाल सभा के अध्यक्ष एवं पत्रकार ओमप्रकाश गुप्ता का सामने आया है जहां उनकी फेस बुक की आईडी हैक कर तथा फर्जी आईडी बना कर मैसेंजर के माध्यम से उनके नाम से उनके फेस बुक के दोस्तों से पैसे की मांग कर मोबाईल नंबर 9254107331 पर फोन पे से डालने के लिए कहा गया। श्री गुप्ता ने एक लिखित शिकायत सिटी थाना प्रभारी इलयास मोहमद को देकर धोखा धड़ी करने वाले की तलाश कर उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की मांग की है।

पीड़ित ओमप्रकाश गुप्ता ने लिखित शिकायत में कहा है की एक अज्ञात व्यक्ति उनकी फेस बुक की आईडी हैक कर तथा फर्जी आईडी बना कर मैसेंजर के माध्यम से उनके नाम से उनके फेस बुक के दोस्तों से पैसे की मांग कर फोन पे पर डालने का कह कर धोखा धड़ी को अंजाम दे रहा है तथा तरह तरह के बहाने की चेटिंग करके मोबाईल नंबर 8954056905 पर फोन पे पर डालने के लिए कह रहा है। बीती रात मंगलवार को रात्री 10:30 बजे पहला फ़ोन नरेश कुमार कथूरिया मालिक यंगमैन टेलर मेन बाजार पलवल का आया,जिन्होंने  उन्हें जानकारी दी की उनसे उनके नाम से दस हज़ार की मांग की गई है।

इसी प्रकार एसपी कार्यालय पलवल में कार्यरत विकाश गुप्ता का फ़ोन आया की उनसे भी इसी तरह पांच हज़ार की मांग की है। इसके बाद पता चला की फरीदाबाद निवासी महेश गोयल से भी आठ हज़ार रूपये मोबाईल नंबर 8954056905 पर फोन पे पर डालने के लिए कहा गया है। उन्होंने बताया रात को ही उन्होंने अपनी फेस बुक का पास वर्ड बदल कर तथा फेस बुक को ही डी एक्टिव कर दिया। उन्होंने बताया की शिकायत के साथ इन तीनों से मेसेंजर के माध्यम से की गई चेटिंग की हार्ड कॉपी भी भेज दी गयी है। उन्होंने कहा की यह अज्ञात व्यक्ति मेरी नाम का फायदा उठा कर लोगों के साथ धोखा धड़ी कर मेरी छवि को ख़राब कर रहा है। उन्होंने पुलिस से मांग की है की उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की जाए ।

 

 

 

 

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।