लोन के लिए 3 महीने से लगा रहा पीड़ित बैंक के चक्कर 15 लाख रूपये लोन देने की गलत नियत से उपभोक्ता से भरवा लिए पहले ही  लोन के पैसे
May 14th, 2020 | Post by :- | 132 Views

  
मेवात (सद्दाम हुसैन) पुनहाना कैनरा बैंक के मैनेजर द्वारा एक उपभोक्ता के साथ लोन के नाम पर धोखाधड़ी करने, अभद्र व्यवाहर व जालसाजी करने का मामला प्रकाश में आया है।  पीड़ित मौसिम निवासी डुडौली ने बैंक मैनेजर की कार्यशैली से परेशान होकर इसकी शिकायत मुख्यमंत्री, रिवीजनल ऑफिस गुरुग्राम, डिवीजन ऑफिस दिल्ली, हेडऑफिस मनीपाल, एलडीएम ऑफिस नूंह से की है।

पीड़ितमौसिम का आरोप है कि उसने जनवरी 2019 में केनरा बैंक सेटीएम मेडिकल स्टोर के नाम से 7 लाख रूपये का लोन लिया था। जब उसे एक साल बाद  अपनेबिजिनेस को बढ़ाने के लिए 20 लाख रूपये की लोन की जरुरत पड़ी तो उसने  मैनजेर से सम्पर्क किया तो बैंक मैनजेर ने जूठा दिलाशा देकर 15 लाख रूपये लोन देने की बात बोलकर गलत नियत से लोन के ऑडी अकाउंट को एक बार में सारी रकम भरकर बंद करने के लिए कहा। जिसके बाद पीड़ित ने मैनेजर के कहने पर बैंक में पूरी बकाया राशि ब्याजसहित जमा कर दी।

पीड़ित का आरोप है की बैंक के बकाया लोन को अन्य जगह से उधार लेकर भरा था। पीड़ित ने बताया की वह अपने बिजनिस लोन को लेने लिए बैंक के कहने पर मकान की वैल्यूवेशन भी कराई थी जो कि मकान की 30 लाख रूपये की कीमत थी। पीड़ित का आरोप है कि मैनेजर के कहने पर जमीन केनक्से बनबाने के लिए वह 45 हजार रूपये खर्च कर चूका है। पीड़ित का आरोप है वह बैंक के लोन के लिए 3 महीने से चक्कर लगा रहा है। बैंक के मैनेजर से बात करने पर वह उपभोक्ता के साथ अभद्र व्यव्हार करता है। लोन नहीं मिलने के कारण उसकाबिजनिस बैंक मैनेजर की गलत नीतियों के कारण पूरी तरह बंद हो गया है। पीड़ित ने बैंक के कार्यशेली पर भी आरोप लगाया है कि बैंक मैनेजर सांठ गांठ करके ही लोन देता है। जबकि केंद्र व प्रदेश सरकार लोगों को आगे बढ़ाने के लिए बैंक की तरफ से पूरी सहायता करती है। बैंक मैनेजर के गलत व्यवहार के कारण पुन्हाना के लोगों के पास कोई सुविधा नहीं मिल पा रही।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।