आढ़ती किसान के खाते में डाल रहे पैसे ओर जा हैफेड के खाते में रहे- विधायक प्रदीप चौधरी
May 13th, 2020 | Post by :- | 146 Views

विधायक ने कहा-गेंहू की नही हो रही लिफटिंग, अधिकारी तानाशाही बनकर बैठे, नही सुन रहे किसान-आढ़ती का दुख-दर्द

रायपुररानी, लोकहित एक्सप्रैस (अंकित)

गेंहू की लिफटिंग और किसानों से गेंहू परचेज करने के बाद उन्हेें पैसा देने में सरकार आनाकानी कर रही है। अधिकारियों के तानाशाही रवैये से आज दोनों की तबके परेशान है। उक्त शब्द कालका विधानसभा से विधायक प्रदीप चौधरी ने कहें। उन्होंने कहा कि अनाजमंडियों से गेंहू की लिफटिंग नही होने के कारण बरसात से अनाजमंडी में पड़ा गेंहू बर्बाद हो रहा है और जिसका नुकसान आढ़ती को उठाना पड़ रहा है। जब हैफेड ने गेंहू की खरीद कर ली है तो फिर उसकी लिफटिंग को क्यूं लटकाया जा रहा है। विधायक प्रदीप चौधरी ने कहा कि 22 दिन बीत जाने के बाद भी एक भी किसान के खाते में एक भी पैसा नही आया। अब आढ़ती थोड़ा पैसा किसान के खाते में डाल रहे है, लेकिन वो किसान के खाते की बजाए हैफेड के खाते में जा रहा है। बताया यह जा रहा है कि हैफेड फिर किसानों के खातों में पैसा डालेगा। इसके लिए भी करीब 72 घंटे की प्रक्रिया बताई जा रही है। लेकिन वैसे तो दो दिन में किसानों के खातों में पैसा डालने की भी बात हुई थी। जैसे हालातों में आज किसान को प्रताडि़त किया जा रहा है। वो सरकार की गलत नीतियों से देश की जनता का भेट भरने वाले अनदाता के साथ घोर अन्याय है।

अधिकारी बने तानाशाह, परेशान लोगों ने नही उठाते फोन–                            विधायक प्रदीप चौधरी ने कहा कि जिस प्रकार से गेंहू की लिफटिंग नही होने पर सबंधित अधिकारियों को फोन किया जाता है तो वो फोन नही उठाते है और बार-बार फोन करने पर कोई रिस्पॉन्स नही देते। आढ़ती किसान के लिए ऐसी स्थिति हो गई कि वो कोरोना जैसी महामारी में उसका दुख और भी ज्यादा गहरा हो रहा है। यदि किसी अधिकारी से बात हो जाती है तो वो सही ढंग से लोगों से बात नही करता है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।